अजूबा का पत्‍ता है बेहद लाभकारी, इन 10 रोगों को कर देता है जड़ से खत्‍म

पत्‍थरचट्टा या अजूबा का पत्‍ता या पौधा हेल्‍थ के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है। आयुर्वेद में भी अजूबा या पत्‍थरचट्टा के विशेष औषधीय गुणों के बारे में बताया गया है। अगर किसी व्‍यक्ति को किडनी से संबधित कोई भी समस्‍या है, तो उसके लिए अजूबा का पौधा या इसके पत्‍ते (Ajooba ka patta) बेहद फायदेमंद होते हैं। अजूबा का पत्‍ता आपकी किडनी में पथरी की समस्‍या को जड़ से मिटाने में सक्षम है। 

अजूबा का पत्‍ता

अजूबा की पत्‍ती के फायदे (Ajooba ki Patti Ke Fayde)

  1. पत्‍थरचट्टा या अजूबा का पत्‍ता (Ajooba ka patta) किडनी की पथरी में लाभकारी
  2. मूत्र विकारों में फायदेमंद
  3. फोड़े, फुंसी से मिलती है निजात
  4. ब्‍लडप्रेशर की समस्‍या में लाभकारी
  5. ल्‍यूकेमिया में फायदेमंद
  6. योनि से संबधिंत रोगों में लाभ
  7. सिरदर्द की समस्‍या का अंत
  8. आंखों के लिए फायदेमंद
  9. चोट या घाव भरने में लाभकारी खूनी दस्‍त से दिलाता है निजात

अजूबा का पत्‍ता या पौधे के अन्‍य नाम

आयुर्वेद के मुताबिक, पत्‍थरचट्टा या अजूबा के पौधे का पणपुट्टी और भष्‍मपथरी के नाम से जाना जाता है। वहीं मेडिकल सांइस में इसे ब्रायोफिलम पिन्‍नाटम कहा जाता है।

Read Also : गिलोय के फायदे जानकर रह जाएंगे हैरान, इन 15 बिमारियों में है असरदार

पत्‍थरचट्टा या अजूबा के पौधे (Ajooba Plant Benefits In Hindi) के फायदे

  • पत्थरचट्टा या अजूबा का पत्‍ता तोड़कर गरम पानी के साथ रोज सुबह खाली पेट उसको सेवन करना चाहिए। ऐसा रोज करने से किसी भी व्‍यक्ति को पथरी की समस्‍या से छुटकारा मिल सकता है।
  • अगर किसी व्‍यक्ति को पेट में ऐंठन या फिर दर्द की शिकायत रहती है तो उसे अजूबा के पत्‍ते का रस सोंठ के चूरन में मिलाकर खाना चाहिए।
  • पित्‍ताशय में पथरी की समस्‍या वाले व्‍यक्तियों को अजवाइन और अजूबा के पत्‍तों को पीसकर पेस्‍ट बना लें, अब इसमें एक चम्‍मच गोखरू मिलाकर सुबह खाली पेट सेवन करें।
  • वहीं अगर किसी व्‍यक्ति को योनि से संबधिंत कोई रोग है तो उस व्‍यक्ति को एक गिलास पानी में 10 अजूबा के पत्‍तों को उबालकर काढ़ा बनाना चाहिए। इस काढ़े का रोजाना सुबह खाली पेट सेवन करने से योनि से संबधिंत समस्‍या से राहत मिलती है। 

अजूबा का पत्‍ता प्रयोग करते समय परहेज भी है जरूरी

अगर आप यहां दी गई किसी भी समस्‍या से ग्रसित हैं तो आप इन उपायों को अपना सकते हैं, लेकिन इन उपायों के साथ आपको कुछ परहेज भी ध्‍यान से करने हैं। इन उपायों के दौरान आपको चावल का सेवन नहीं करना चाहिए। वहीं इन उपायों को करने से पहले एक बार अपने डॉक्‍टर से सलाह जरूर ले लेनी चाहिए।

FAQ’s

Q : पथरी में पत्थरचट्टा का उपयोग कैसे करें?

  • Ans : पत्थरचट्टा या अजूबा का पत्‍ता (Ajooba ka patta) तोड़कर गरम पानी के साथ रोज सुबह खाली पेट उसको सेवन करना चाहिए। ऐसा रोज करने से किसी भी व्‍यक्ति को पथरी की समस्‍या से छुटकारा मिल सकता है
  • Q : दूध पिलाने वाली मां को पथरी में पत्थरचट्टा की पत्ती पीनी चाहिए या नहीं?

    Ans : नहीं

    Q : क्या शुगर में पत्थरचट्टा का प्रयोग कर सकते है?

    Ans : कर सकते हैं

    Leave a Comment

    11 नहीं IPL में अब 15 खिलाड़ी खेलेंगे मैच? BCCI करने जा रहा बड़ा बदलाव कलौंजी इन बिमारियों का है रामबाण इलाज, जानिए 10 फायदे क्या जेठालाल भी छोड़ने वाले हैं तारक मेहता का उल्टा चश्मा? भड़के दर्शक असित मोदी ने किया खुलासा, तारक मेहता बनेगा अब ये एक्टर, शूटिंग शुरू Karela Ke Fayde Aur Nuksan | करेला के फायदे और नुकसान