जीका वायरस क्‍या होता है | लक्षण व बचाव के उपाय | What is Zika Virus in Hindi

देश में अभी कोरोना वायरस का कहर पूरी तरह खत्म भी नहीं हुआ है और दूसरी तरफ एक और वायरस ने अपने पैर पसराना शुरू कर दिया है। अब जीका नामक वायरस ने देश में आम जनता और प्रशासन की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। केरल के बाद अब उत्‍तर प्रदेश के कई जिलों में इस वायरस की पुष्टि हुई है। उत्‍तर प्रदेश में अब तक इसके सैकड़ों मामले सामने आ चुके हैं। डब्‍ल्‍यूएचओ के मुताबिक, यह वायरस एडीज मच्छरों के काटने के कारण फैलता है और ये मच्छर खासकर दिन में ज्यादा सक्रिय रहते हैं। हालांकि यह पहली बार नहीं है जब जीका वायरस भारत में फैला है। इससे पहले साल 2017 में अहमदाबाद में इस वारयस की पुष्टि हुई थी। आइए आज जानते हैं कि जीका वायरस क्‍या होता है ? कैसे फैलता है? और जीका वायरस के लक्षण क्‍या हैं? तथा इसके इलाज या बचाव के उपाय क्या हैं?

जीका वायरस क्‍या होता है

जीका वायरस क्‍या होता है – What is Zika Virus in Hindi

Zika एक प्रकार का वायरस है, जो एडीज मच्छरों के काटने के कारण फैलता है। डॉक्‍टरों के मुताबिक, यह मच्‍छर दिन के समय में काटते हैं। वहीं ये मच्छर वहीं हैं जिनके काटने से डेंगू फैलता है, इसलिए जीका वायरस के लक्षण भी डेंगू जैसे ही होते हैं।

कैसे फैलता है जीका वायरस – How Zika Virus Spread in Hindi

जीका वायरस पॉजीटिव व्यक्ति की बॉडी से निकलने वाले लिक्विड के आदान-प्रदान से फैलता है। यानि अगर कोई व्यक्ति जीका पॉजीटिव किसी व्यक्ति के सलाइवा या सीमेन के संपर्क में आता है तो वह भी इस वायरस की चपेट में आ सकता है।

नींबू के फायदे और नुकसान | Benefits And Side Effects of Lemon in Hindi

कहां से हुई जीका वायरस की शुरूआत

जीका वायरस एडीज मच्छर के काटने से फैलने वाला फ्लेविवायरस है, जिसे साल 1947 में पहली बार युगांडा के बंदरों में देखा गया था। इसके बाद साल 1952 में युगांडा और तंजानिया में इसानों में भी इसकी पुष्टि हुई थी।

जीका वायरस के लक्षण – Zika Virus Symptoms in Hindi

  • बुखार आना
  • शरीर में दाने पड़ना
  • आंख आना
  • मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द
  • बेचैनी होना
  • सिरदर्द होना

जीका वायरस के लक्षण आमतौर पर हल्के होते हैं। यही कारण है कि लोग शुरूआत में इसे आज फ्लू जैसा मानते हैं। जीका वायरस के मुख्‍य लक्षण बुखार, शरीर में दाने पड़ना, आंख आना, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द की शिकायत, बेचैनी होना और सिरदर्द होना हैं। जीका वायरस के लक्षण तकरीबन 2 से 7 दिनों तक दिखाई देते हैं। वहीं कई बार संक्रमण होने पर भी वायरस के लक्षण नजर नहीं आते हैं।

इस वायरस के संक्रमण से बच्चों में न्यूरोलॉजिकल रिस्क का खतरा काफी हद तक बढ़ जाता है। इसके साथ ही गर्भावस्था के समय में भी यह वायरस नवजात शिशु में माइक्रोसेफली और अन्य बिमारियां पैदा कर सकता है।

जीका वायरस का इलाज – Zika Virus Treatment in Hindi

डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, जीका वायरस का अभी तक कोई इलाज नहीं निकल पाया है। हालांकि हल्के लक्षण होने के कारण संक्रमित को घर पर ही आराम करना चाहिए और बुखार, सर्दी, सिर दर्द की सामान्य दवाईयां लेनी चाहिए। तबियत बिगड़ने पर तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

जीका वायरस क्‍या होता है – बचाव के उपाय

  • वायरस के बचाव के लिए आपको मच्छरों की रोकधाम के उपाय करने चाहिए।
  • घर में अपने आस-पास पानी को इकट्टा ना होने दें।
  • मच्छरों से बचाव के लिए दिन में भी शरीर को ढककर रखें।
  • हल्के रंग के कपड़े पहनें। तरल पदार्थों का भरपूर सेवन करें।
  • गर्भवती महिलाओं, बुजर्गों और छोटे बच्चों को मच्छरों से बचा कर रखें।

FAQ’s

Q : जीका वायरस क्‍या है?
Ans :
जीका एक प्रकार का वायरस है, जो एडीज मच्छरों के काटने के कारण फैलता है। डॉक्‍टरों के मुताबिक, यह मच्‍छर दिन के समय में काटते हैं।

Q : जीका वायरस किस मच्‍छर के काटने से फैलता है?
Ans : 
जीका वायरस एडीज मच्छर के काटने के कारण फैलता है।

Q : जीका वायरस के मुख्‍य लक्षण क्‍या हैं?
Ans :
बुखार आना, शरीर में दाने पड़ना, आंख आना, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द, बेचैनी होना, सिरदर्द होना

Leave a Comment

उमरान मलिक ने डेब्यू मैच में ही रचा इतिहास, डाली सबसे तेज गेंद RCB का साथ देने आ रहा है ये ओपनर, 2021 में मचाई थी तबाही IPL 2023 में विराट कोहली फिर संभालेंगे कप्‍तानी? जीत पर नजर मेथी के फायदे और नुकसान तुलसी के फायदे और नुकसान | Tulsi Ke Fayde Aur Nuksan