क्या होते हैं पद्म पुरस्कार | पद्म विभूषण | पद्म भूषण | पद्म श्री की शुरूआत

क्या होते हैं पद्म पुरस्कार : देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मानों में से पद्म पुरस्कार को एक माना जाता है। इस पुरस्कार को कला, सामाजिक कार्य, विज्ञान, इंजीनियरिंग, व्यापार, उद्योग, मेडिसिन, साहित्य, शिक्षा, खेल-कूद और नागरिक सेवाओं के लिए दिया जाता है। इसकी घोषणा भारत सरकार हर साल गणतंत्र दिवस के अवसर पर करती है। यह पुरस्‍कार देश के राष्ट्रपति द्वारा मार्च/अप्रैल माह में राष्ट्रपति भवन में आयोजित कार्यक्रम के दौरान दिए जाते हैं। सबसे पहली बार साल 1954 में इस सम्मान की स्थापना की गई थी। एक साल में पद्म पुरस्कारो की संख्या 120 से ज्यादा नहीं होती है।

क्या होते हैं पद्म पुरस्कार

क्या होते हैं पद्म पुरस्कार? – What are Padma Awards in Hindi

क्‍या होते हैं पद्म विभूषण पुरस्कार – What is Padma Vibhushan Award in Hindi

भारत रत्न के बाद पद्म विभूषण देश का दूसरा सर्वोच्च नागरिक सम्मान है। 2 जनवरी 1954 में पहली बार इस सम्मान की स्थापना की गई थी। इस पुरस्कार में कांसे का एक पदक और प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। पदक के बीच में एक सफ़ेद रंग की पत्तियों वाला कमल का फूल होता है। इस फूल के उपर और नीचे पद्म विभूषण लिखा होता है। वहीं पदक के दूसरे भाग में अशोक चिन्ह बना होता है।

1954 में बनाए गए सोने के पदक का आकार 1-3/8″ व्यास का था। इस पदक के बीच में कमल का फूल बना हुआ था। उपर पद्म विभूषण लिखा हुआ था और नीचे पुष्पहार बनाया हुआ था।

तुलसी गौड़ा का जीवन परिचय | Biography of Tulsi Gowda in Hindi

साल 1955 में एक बार फिर इसमें बदलाव किया गया था। इसके आकार को बदलकर 1-3/16″ कर दिया गया। साथ ही इसे सोने का बदलकर कांसे का किया गया। बीच में बने कमल की पत्तियों को सोने का बनाया गया और इसके उपर और नीचे पद्म विभूषण लिखा गया था।

क्‍या होते हैं पद्म भूषण – What is Padma Bhushan Award in Hindi

भारत रत्न और पद्म विभूषण के बाद पद्म भूषण भारत का तीसरा सर्वोच्च नागरिक सम्मान है। इस सम्मान में भी कांसे का एक पदक और प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। पदक के केंद्र में कमल का फूल होता है जिसके घेरे में 3 पत्तियां होती है और उपर नीचे पद्म भूषण लिखा होता है।

पद्म श्री – What is Padma Shri Award in Hindi

भारत रत्न, पद्म विभूषण और पद्म भूषण के बाद पद्म श्री भारत का चौथा सर्वोच्च नागरिक सम्मान है। यह सम्मान केवल भारतीय को ही दिया जाता है। इस सम्मान में भी कांसे का एक पदक और प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। पदक के बीच में कमल का फूल होता है जिसके घेरे में 3 पत्तियां होती है और उपर नीचे पद्म श्री लिखा होता है।

पद्म पुरस्कार का कैसे होता है चयन? – How Padma Awards are Decided

पद्म पुरस्कार दिए जाने से पहले प्रधानमंत्री द्वारा एक समिति गठित की जाती है। इसके बाद राज्य सरकार, केद्रीय मंत्रालय या प्रतिष्ठित संस्थान गठित समिति के पास पदम पुरस्कारों की सिफारिश करते हैं। नाम तय होने के बाद इसे प्रधानमंत्री, गृहमंत्री और राष्ट्रपति के पास मंजूरी के लिए भेजा जाता है। जब सभी जगह से अनुमोदन मिल जाता है फिर पद्म सम्मान से सम्मानित होने वाले शख्सियतों के नामों की घोषणा गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर की जाती है।

01 मई 2016 में केंद्र सरकार द्वारा पद्म पुरस्कारों के चयन के लिए एक पोर्टल बनाया गया जिसमें व्यक्तिगत, मंत्रालय और राज्य सरकारों की सिफारिशें स्वीकार की जाती है। इसके अलावा नामांकन का कोई और तरीका नहीं है। सिफारिश करने वाले को अपना नाम और आधार कॉर्ड नंबर पोर्टल पर डालना होता है।

FAQ’s

Q : पद्म पुरस्‍कार किन श्रेणियों में दिए जाते हैं?
Ans : पद्म पुरस्‍कारों को कला, सामाजिक कार्य, विज्ञान, इंजीनियरिंग, व्यापार, उद्योग, मेडिसिन, साहित्य, शिक्षा, खेल-कूद और नागरिक सेवाओं के लिए दिया जाता है।

Q : एक साल में अधिकतर कितने व्‍यक्तियों को पद्म पुरस्‍कार दिए जाते हैं?
Ans : एक साल में पद्म पुरस्कारो की संख्या 120 से ज्यादा नहीं होती है।

Q : पद्म पुरस्‍कारों की शुरूआत कब हुई?
Ans :
पद्म पुरस्‍कारों की शुरूआत साल 1954 में हुई थी।

Leave a Comment

गिलोय के फायदे और नुकसान | Giloy Benefits Side Effects in Hindi शादीशुदा पुरुष रोज ऐसे खाएं सिर्फ 2 अखरोट, मिलेंगे जबरदस्त फायदे आपके सफेद बालों का काला बना सकती है कलौंजी? यहां जानिए डायबिटीज मरीजों के लिए बेहद फायदेमंद है अखरोट, ऐसे करें सेवन जीरा खाने के फायदे और नुकसान | Cumin Seeds Benefits Hindi