प्याज के फायदे और नुकसान | Onion Benefits And Side Effects in Hindi

प्याज के फायदे | प्याज के नुकसान | Onion Benefits in Hindi | Onion Side Effects in Hindi | प्याज की खेती

‘प्याज’ इस शब्द से आखिर कौन वाकिफ नहीं है, हम भारतीयों के लिए खाने में प्याज का इस्तेमाल करना बेहद स्वाभाविक है और भारत के लगभग हर परिवार में इसे रोजाना कच्चा या फिर पकाकर तो खाया ही जाता है। ये दोनों खाने के तरीके स्वाद के साथ-साथ कई अलग-अलग स्वास्थ्य लाभ भी प्रदान करते (Onion Benefits in Hindi) हैं।

Onion Benefits in Hindi

वहीं अगर बात करें भारत की तो यहाँ पर क्षेत्र के आधार पर प्याज खाने के अलग-अलग अर्थ और अलग विधियां भी होती हैं। कोई भी सब्जी प्याज के बिना पूरी नहीं होती और कोई भी स्लाद प्याज के बिना पूरा नहीं होता और दाल-चावल के साथ उत्तर भारत में प्याज़ खाने का अलग ही स्वाद माना जाता है।

प्याज का सेवन दुनियाभर में इतना आम है कि शायद ही इसके बिना कोई व्यंजन पूरा माना जाता हो। अपने दैनिक जीवन में हम सभी प्याज का इस्तेमाल तो खूब करते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि आखिर प्याज खाने के फायदे क्या-क्या हैं? और इसके सेवन से क्या नुकसान हो सकते हैं? आइये आज जानते हैं प्‍याज के फायदे (Onion Benefits in Hindi) और नुकसान क्‍या-क्‍या हैं? लेकिन इससे पहले हम प्‍याज के बारे में थोड़ा विस्‍तार से जान लेते हैं।

Table of Contents

प्याज क्या है?

वैज्ञानिक रूप से प्याज़ को सब्जियों के रूप में वर्गीकृत किया गया है। प्याज का वैज्ञानिक नाम ‘एलियम सेपा’ (Allium Cepa) है। आज दुनिया में लगभग हर जगह पर प्याज की खेती होती है। वहीं अगर बात करें शोधकर्ताओं की तो प्याज के पौधे को देखकर शोधकर्ताओं का मानना है कि यह एक प्रकार का डंठल है, जिसकी जड़ सबसे नीचे होती है और इसका मुख्य हिस्सा भी जमीन के भीतर ही रहता है और यह एक तने के रूप में बड़ा होता रहता है। 

प्‍याज के अन्‍य भाषाओं में नाम

हिंदीप्‍याज, कांदा और डुंगरी
तेलुगुउल्लिपायालु, येरा गद्दालु, निरुल्ली
तमिलवैंगयम
मलयालमसवाना
कन्‍नडउल्लिगड्डे, एरुल्ली, नीरुली
बंगालीपिंयाज
गुजरातीडुंगरी, कांदा
मराठीकंडा
अंग्रेजीओनियन (ONION)

प्याज का इतिहास और उत्पत्ति

प्याज को दुनिया की सबसे पुरानी सब्जियों में से एक माना जाता है। सबसे पहले प्याज मध्य एशिया में दिखाई दिया और फिर पूरी दुनिया में इसका फैलाव देखने को मिला। हालाँकि अगर बात की जाए कि प्याज सबसे पहले किस समय, कहाँ और कब लगाया गया? तो अभी भी आधुनिक पुरातत्वविद, वनस्पति वैज्ञानिक और इतिहासकार भी उस सटीक समय का पता लगाने में सक्षम नहीं हो पाएं हैं?

प्याज पहली बार कब, कहाँ उगा था? इसका कोई ठोस प्रमाण नहीं मिलता (क्योंकि यह एक लुप्तप्राय प्रकार की सब्जी है जिसकी खेती का कोई निशान मौजूद नहीं है) लेकिन कुछ लिखित रिकॉर्ड के माध्यम से हमें एक तस्वीर मिलती है जिससे प्याज़ के उत्पत्ति का हम एक छाया चित्र बनाते हैं और मानते हैं कि ऐसा हुआ होगा।

प्याज के प्रकार

प्याज के कई प्रकार होते हैं लेकिन हम कुछ महत्वपूर्ण प्रकारों के नामों को ही यहां शामिल कर रहे हैं। यह सभी प्रकार आप अपने आसपास आसानी से देख सकते हैं। हम आपको प्याज की कुछ प्रमुख भारतीय किस्मों से परिचित (Onion Benefits in Hindi) करा रहे हैं, जोकि आम तौर पर हमें देखने को मिल जाती हैं:

Onion Benefits in Hindi

लाल प्याज : यह कच्चा भी खाने योग्य होता है।

पीला प्याज : इसकी सुगंध अंदर से सल्फर की तरह होती है, यह अंदर से सफ़ेद रंग का होता है।

सफेद प्याज : स्वाद में थोड़ा मीठा और रंग में सफ़ेद होता है।

मीठा प्याज : देखने में थोड़ा अपारदर्शी और स्वाद में मीठा होता है।

हरा प्याज : हरे प्याज को पत्तों के साथ पूरी तरह से पकाने से बाद इस्तेमाल किया जाता है।

प्‍याज का उपयोग कैसे करें

प्याज का उपयोग मुख्य रूप से सब्जी की ग्रेवी और चटनी बनाने में (Onion Benefits in Hindi) किया जाता है। वहीं प्‍याज के रस का उपयोग विभिन्न औषधीय और स्वास्थ्य उपयोगिताओं के रूप में भी किया जाता है। अगर हम प्याज़ के स्वाद की बात करें तो इसे एक शब्द में बता पाना थोड़ा टेढ़ा काम है। दरअसल प्‍याज का स्‍वाद (Onion Benefits in Hindi) मीठा होने के साथ-साथ तीखा और तेज भी होता है। तीव्र होने की वजह से ही कच्चा काटने पर यह आंखों में जलन पैदा करता है।

प्याज के फायदे | Onion Benefits in Hindi

जैसा की हम सभी जानते है कि प्याज खाने के फायदे (Onion Benefits in Hindi) अनगिनत हैं। यही कारण है कि हम इसे अपने दैनिक जीवन में हर रोज इस्तेमाल करते हैं। कई हजारों वर्षों से प्याज़ का इस्तेमाल हमारे पूर्वजों द्वारा किया जाता रहा है। दरअसल इसके कई औषधीय गुण भी हैं जो हमारे स्वास्थ के लिए लाभदायक होते हैं। हम सभी जानते हैं कि प्याज में मौजूद ‘फ्लेवोनोइड्स’ हमारे शरीर को कई बड़ी बीमारियों से बचाता है। आइए जानते हैं प्‍याज के फायदे (Onion Benefits in Hindi) क्‍या-क्‍या हैं।

एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है प्याज 

प्याज में एंटी ऑक्सीडेंट के तत्व होते हैं। एंटी ऑक्सिडेंट वो तत्व हैं जो हमारे शरीर में होने वाले ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करते हैं। ऑक्सीडेटिव तनाव कैंसर जैसी घातक बीमारियों का एक प्रमुख कारण है। एंटीऑक्सिडेंट ऑक्सीकरण को रोकते हैं। ऑक्सीडेटिव तनाव के कारण शरीर में मुक्त कणों की वृद्धि एक ऐसी प्रक्रिया है जो कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाती है और मधुमेह [शुगर] और हृदय रोग जैसी बीमारियों में योगदान करती है। एंटीऑक्सिडेंट इसे रोकते हैं, प्याज एंटीऑक्सीडेंट का बहुत अच्छा स्रोत है।

इसमें एंथोसायनिन भरपूर मात्रा में पाया जाता है जिससे प्याज़ लाल रंग का होता है। एक अध्ययन के अनुसार, एंथोसायनिन की उच्च खुराक लेने वाले लोगों में हृदय रोग विकसित होने की संभावना कम थी। प्याज खाने से दिल स्वस्थ रहता है तो प्याज से आप अपने ह्रदय को और बेहतर (Onion Benefits in Hindi) बना सकते हैं।

शुगर जैसी बिमारियों में बेहद लाभदायक है प्‍याज

मधुमेह जैसे रोगों को प्याज कंट्रोल कर सकता है। इस पर वैज्ञानिकों ने कई अध्ययन किए हैं कि कैसे प्याज मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए काम करता है। इस अध्ययन में इस बात के प्रमाण मिले हैं कि प्याज का रस मधुमेह को कम करने में मदद कर सकता है।

प्याज में क्रोमियम यौगिक रक्त शुगर को कम करने में सहायक होते हैं जबकि प्याज में सल्फर क्वेरसेटिन एंटीऑक्सिडेंट और मधुमेह विरोधी गुण भी होते हैं। इन तेज गुणों का शुगर को कम करने पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। हालांकि प्याज मधुमेह का पक्का इलाज तो नहीं है लेकिन हम हर दिन एक निश्चित मात्रा में प्याज़ के सेवन से शुगर जैसी गंभीर बीमारियों से बच (Onion Benefits in Hindi) सकते हैं।

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए प्याज है फायदेमंद

प्याज आपको अंदर से मजबूत बनाने का काम करता है और आपके बीमार होने की संभावना को कम करने में मदद करता है। हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत करने में विटामिन सी का महत्व सबसे ज्यादा माना जाता है। प्याज में पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी होता है। प्याज में फाइटोकेमिकल्स भी होते हैं जो प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने और अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करते हैं।

Onion Benefits in Hindi

प्याज में सेलेनियम भी पाया जाता है जो इम्यून सिस्टम को मजबूत (Onion Benefits in Hindi) करता है। विटामिन सी मुक्त कणों के प्रभाव को कम करने में मदद करता है। इस तरह आप प्याज के सेवन को सीमित करके अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं। यह हमारे शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है।

पाचन शक्ति बढ़ाने में सहायक है प्‍याज

प्याज फाइबर से भरपूर होता है। प्याज पाचन में मदद करता है। प्याज खाने से सामान्य जीवन जीने में मदद मिलती है। प्याज में ऑलिगॉफ्थारोस नामक पानी में घुलनशील फाइबर भी होता है जो आंत में अच्छे बैक्टीरिया की अच्छी वृद्धि को बढ़ावा देता है जिससे हमें पाचन प्रक्रिया में मदद मिलती है। दूसरे शब्दों में कहें तो प्याज खाने से दस्त होने की संभावना कम हो जाती है।

नेशनल ओनियन एसोसिएशन के अनुसार प्याज के फाइटोकेमिकल्स जो फ्री रेडिकल्स को नुकसान पहुंचाते हैं गैस्ट्रिक अल्सर के खतरे को भी कम करते हैं। प्याज में कुछ प्राकृतिक प्रोटीन भी पाए गए हैं। प्याज का उपयोग गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल रोगों जैसे आंवले और अन्य गैस्ट्रिक रोगों में भी मदद करता है। प्‍याज खाने के फायदे (Onion Benefits in Hindi) के साथ आप लहसुन के फायदे और नुकसान भी जान सकते हैं।

प्याज के नुकसान | Onion Side Effects in Hindi

किसी भी चीज का अति प्रयोग होने पर नुकसान होना स्वाभाविक है। प्याज जहाँ एक तरफ से बहुत फायदेमंद (Onion Benefits in Hindi) और दवा के रूप में भी प्रयोग किया जाता है तो वहीं दूसरी तरफ प्याज खाने से कुछ लोगों को स्वास्थ्य समस्या भी हो सकती है, जैसे हरा प्याज खाने से सांसों से दुर्गंध आती है। इसके अलावा भी ऐसे कई नुकसान हैं जो प्याज से होते हैं। आइये जानते हैं प्याज़ के नुकसान (Onion Side Effects in Hindi) के बारे में…

प्याज से एलर्जी

आम तौर पर लोगों को प्याज से एलर्जी नहीं होती है लेकिन कुछ लोगों को हो सकती है। कुछ लोगों के लिए प्याज खाने से पाचन तंत्र खराब हो जाता है। पेट भारी लगता है, या गैस भी हो सकता है। इसलिए कोशिश करें कि ऐसे लोग प्याज का सेवन कम करें।

आंखों और मुंह में जलन

कच्चा प्याज़ खाने से आंख और मुंह में जलन हो सकती है। प्याज काटते ही आंसू बहने लगते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि प्याज की कोशिकाएं एक गैस का उत्सर्जन करती हैं जिसे रप्चर फैक्टर (एलएफ) कहा जाता है। यह गैस आँख के न्यूरॉन में झुनझुनी सनसनी को सक्रिय करता है जो की आँसू और जलन के रूप में हमें देखने को मिलता है।

Onion Benefits in Hindi

लो ब्लड शुगर

हमेशा सीमित मात्रा में प्याज खाएं क्योंकि अधिक प्याज खाने से आपका ब्लड शुगर लेवल काफी कम हो सकता है। जरूरत पड़ने पर आप अपने डॉक्टर से भी सलाह ले सकते हैं।

गर्भवती महिलाएं को प्याज से परेशानी

प्याज में जलन पैदा करने वाले यौगिक होते हैं जो गर्भवती महिलाओं के शरीर में सूजन पैदा कर सकते हैं। गर्भवती महिलाओं को प्याज कम खाना चाहिए क्योंकि उन्हें पाचन संबंधी समस्याएं और पेट फूलने की समस्या हो सकती है।

प्याज में लिथियम होता है।

अगर आप डिप्रेशन के लिए एंटीडिप्रेसेंट ले रहे हैं तो प्याज लेने के बारे में अपने डॉक्टर से बात करें और प्‍याज का इस्तेमाल कम से कम करें।

FAQ’s

प्‍याज की तासीर कैसी होती है?

प्‍याज की तासीर गर्म होती है।

क्‍या प्‍याज में पोषक तत्‍व पाए जाते हैं?

हां, प्‍याज में एंटीऑक्‍सीडेंट गुण पाए जाते हैं।

एक दिन में हम कितना प्‍याज खा सकते हैं?

इसके लिए किसी भी तरह की कोई सीमा निर्धारित नहीं की गई है। जरूरत से ज्‍यादा किसी भी चीज का सेवन हानिकारक हो सकता है, इसलिए आप जरूरत के हिसाब से ही प्‍याज का सेवन करें।

क्‍या सर्दी-जुकाम में प्‍याज खाने से फायदा होता है?

हां, सर्दी-जुकाम में प्‍याज के सेवन से फायदा होता है।

Leave a Comment

गिलोय के फायदे और नुकसान | Giloy Benefits Side Effects in Hindi शादीशुदा पुरुष रोज ऐसे खाएं सिर्फ 2 अखरोट, मिलेंगे जबरदस्त फायदे आपके सफेद बालों का काला बना सकती है कलौंजी? यहां जानिए डायबिटीज मरीजों के लिए बेहद फायदेमंद है अखरोट, ऐसे करें सेवन जीरा खाने के फायदे और नुकसान | Cumin Seeds Benefits Hindi