लालकृष्‍ण आडवाणी का जीवन परिचय | Lalkrishna Adwani Biography in Hindi

लौह पुरुष के नाम से विख्यात लालकृष्ण आडवाणी (LK Adwani) भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता हैं। वह भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुके हैं। भारतीय जनता पार्टी का पूरा श्रेय लालकृष्ण आडवाणी को जाता है। भारतीय राजनीती के कई बड़े नामों में शुमार लाकृष्ण आडवाणी को भारतीय जनता पार्टी का असली चेहरा कहा जाता है तो कभी पार्टी के भीष्म पितामह। आइये जानते हैं लालकृष्‍ण आडवाणी का जीवन परिचय (Lalkrishna Adwani Biography in Hindi) –

लालकृष्‍ण आडवाणी का जीवन परिचय

लालकृष्‍ण आडवाणी का जीवन परिचय – Lalkrishna Adwani Biography in Hindi

नामलालकृष्ण आडवाणी
वास्तविक नामलाल किशन चंद आडवाणी
जन्म08 नवंबर 1927
आयु93 वर्ष
जन्मस्थानकराची (ब्रिटिश भारत)
पिता का नामके डी आडवाणी
माता का नामज्ञानी आडवाणी
पत्नी का नामकमला आडवाणी
संतानपुत्री- प्रतिभा आडवाणी, पुत्र- जयंत आडवाणी
धर्महिन्दू
राजनैतिक दलभारतीय जनता पार्टी
नेटवर्थकरीब 7 करोड रुपए

 

लालकृष्ण आडवाणी का जन्‍म व माता-पिता – Lalkrishna Adwani Birthdate And Mother-Father

आठ नवंबर 1927 को लाल कृष्ण आडवाणी का जन्म कराची में हुआ था। इनका वास्तविक नाम लाल किशन चंद आडवाणी है। लालकृष्ण आडवाणी की माता का नाम ज्ञानी आडवाणी और पिता का नाम के डी आडवाणी है। विभाजन के बाद लाल कृष्ण आडवाणी भारत आ गए।

लालकृष्ण आडवाणी का वैवाहिक जीवन – LK Adwani Married Life

उन्होंने 25 फ़रवरी 1965 को शादी कर ली। उनकी पत्नी का नाम कमला आडवाणी है। उनकी पत्नी का राजनीति‍ से कोई रिश्ता नहीं था, लेकिन वह हमेशा अपने पति के साथ खड़ी रहती थीं। लाल कृष्ण आडवाणी के दो बच्चे (एक बेटी व एक बेटा) है। लालकृष्‍ण आडवाणी की बेटी का नाम प्रतिभा आडवाणी और बेटे का नाम जयंत आडवाणी है। लाल कृष्ण आडवाणी की बेटी एक मीडिया कंपनी चलाती हैं। वहीं लालकृष्ण आडवाणी के बेटे की बात करें तो वह मीडिया से दूरी बना कर रखते हैं।

शिक्षा – LK Adwani Education

लालकृष्ण आडवाणी ने अपनी शिक्षा लाहौर से पूरी की। स्नातक की पढाई के लिए लालकृष्ण आडवाणी ने सिंध प्रांत के डीजी नेशनल कॉलेज में हिस्सा लिया। विभाजन के बाद जब वह भारत आए, तब भारत आकर उन्होंने मुंबई के गवर्नमेन्ट लॉ कॉलेज से लॉ में स्नातक की डिग्री हासिल की।

Kalyan Singh Biography in Hindi

लालकृष्ण आडवाणी का राजनैतिक जीवन परिचय – Lal Krishna Adwani Political Career

कराची से ही लालकृष्ण आडवाणी का राजीनैतिक सफर शुरू हो गया था। साल 1947 में वह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सचिव नियुक्त किये गए। फिर 1951 में श्यामाप्रशाद मुखर्जी द्वारा भारतीय जनसंघ की स्थापना की गई, तभी वर्ष 1951 से 1957 तक लालकृष्ण आडवाणी जनसंघ पार्टी के सचिव रहें।

जनसंघ के अध्‍यक्ष बने आडवाणी – Lk Adwani President of Jansangh

जनसंघ में कई पदों पर काम करने के बाद 1975 में वह इसके अध्यक्ष नियुक्त हुए। 1980 में भारतीय जनता पार्टी की स्थापना के बाद से 1986 तक वह पार्टी के महासचिव रहें। 1986 से   1991 तक उन्होंने पार्टी के अध्यक्ष पद पर कार्य किया इसी दौरान 1990 में राम मंदिर आंदोलन के दौरान उन्होंने सोमनाथ से अयोध्या के लिए रथयात्रा निकाली हलाकि बीच में ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। इस दौरान भारत के कई भागों में हिन्दू- मुस्लिम दंगे भी हुएं।

प्रधानमंत्री पद के उम्‍मीदवार – Lalkrishna Adwani Prime Minister Candidate

2009 में आडवानी को बीजेपी का प्रधानमंत्री उमीदवार बनाया गया इसका उन्होंने बड़े ही ज़ोरो शोरो से प्रचार प्रसार भी किया लेकिन शायद उनके भाग्य में भारत का प्रधानमंत्री बनना नहीं था। उनका ये सपना अधूरा ही रह गया। बहुत उम्मीदों के बावजूद NDA गठबंधन, यूनाइटेड प्रोग्रेसिव अलायन्स को नहीं पिछड़ पाई। इसके पश्चात आडवाणी ने लोक सभा से विपक्ष के नेता पद से इस्तीफा दे दिया और उनकी जगह सुषमा स्वराज ने ली।

योगी आदित्‍यनाथ का जीवन परिचय – Yogi Adityanath Biography in Hindi

बने भारत के गृहमंत्री – Lalkrishna Adwani Became Home Minister

लाल कृष्ण आडवाणी तीन बार भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष पद पर रह चुके हैं। वह चार बार राजयसभा और पांच बार लोकसभा सदस्य भी रह चुके हैं। 1996 के आम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी एकमात्र बहुमत प्राप्त दाल के रूप में सामने आयी और राष्ट्रपति द्वारा इसे सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया गया। वर्ष 1977 से 1979 तक पहली बार इन्हे केंद्रीय सरकार में कैबिनेट मंत्री का दायित्व प्रदान किया गया। इस दौरान वह सूचना और प्रसारण मंत्री रहे। 1999 में एनडीए की सरकार बनने के बाद अटल बिहारी वाजपेई के नेतृत्व में लालकृष्ण आडवाणी केंद्रीय गृहमंत्री बने। 29 जून 2002 को उन्हें उपप्रधानमंत्री पद का दायित्व भी सौंपा गया।

Leave a Comment

गिलोय के फायदे और नुकसान | Giloy Benefits Side Effects in Hindi शादीशुदा पुरुष रोज ऐसे खाएं सिर्फ 2 अखरोट, मिलेंगे जबरदस्त फायदे आपके सफेद बालों का काला बना सकती है कलौंजी? यहां जानिए डायबिटीज मरीजों के लिए बेहद फायदेमंद है अखरोट, ऐसे करें सेवन जीरा खाने के फायदे और नुकसान | Cumin Seeds Benefits Hindi