Swatantra Dev Singh Biography in Hindi | स्‍वतंत्र देव सिंह का जीवन परिचय

(Swatantra Dev Singh Biography in Hindi, Family, Education, Net Worth, Caste, Wikipedia, स्‍वतंत्र देव सिंह का जीवन परिचय, जीवनी)

उत्‍तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी ने ऐतिहासिक जीत हासिल कर लगातार दूसरी बार सत्‍ता में वापसी की है। बीजेपी की इस जीत का श्रेय भले ही तमाम बड़े-बड़े नेताओं को जाता है, लेकिन इन सभी नामों के अलावा एक और नाम है जिन्‍होंने प्रदेश में पार्टी के संगठन को मजबूती से खड़ा करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। दरअसल ये नाम है उत्‍तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री स्‍वतंत्र देव सिंह का। आइए आज जानते हैं स्‍वतंत्र देव सिंह का जीवन परिचय (Swatantra Dev Singh Biography in Hindi)

Swatantra Dev Singh Biography in Hindi

Table of Contents

Swatantra Dev Singh Biography in Hindi – स्‍वतंत्र देव सिंह का जीवन परिचय

नामस्‍वतंत्र देव सिंह
जन्‍म13 फरवरी 1964 (58 वर्ष)
जन्‍मस्‍थानमिर्जापुर, उत्‍तर प्रदेश
पिता का नामअल्‍लर सिंह
मां का नामरामा देवी
बड़े भाईश्रीपत सिंह
पत्‍नी का नामकमला देवी
पार्टीभारतीय जनता पार्टी
पदकैबिनेट मंत्री (उत्‍तर प्रदेश),
जल शक्ति मंत्रालय,
नमामि गंगे व ग्रामीण जलापूर्ति विभाग,
सिंचाई एवं जल संसाधन मंत्रालय,
सिंचाई (यांत्रिकी) विभाग,
लघु सिंचाई विभाग,
परती भूमि विकास मंत्रालय,
बाढ़ नियंत्रण मंत्रालय
धर्महिंदू
जातिकुर्मी (ओबीसी)
शैक्षिक योग्‍यतास्‍नातक

Swatantra Dev Singh Birthdate and Family – जन्म व परिवार

स्वतंत्र देव सिंह का जन्म 13 फरवरी 1964 के दिन उत्‍तर प्रदेश के मिर्जापुर में हुआ था। स्‍वतंत्र देव सिंह के पिता का नाम स्‍वर्गीय श्री अल्‍लर‍ सिंह है, वहीं उनकी मां का नाम रामा देवी है। स्‍वतंत्र देव सिंह के एक बड़े भाई हैं,‍ जिनका नाम श्रीपत सिंह है। स्‍वतंत्र देव सिंह के परिवार का दूर-दूर तक राजनीति से कोई लेना-देना नहीं था। वह अपने परिवार के पहले ऐसे व्‍यक्ति थे जिन्‍होंने राजनीति में कदम (Swatantra Dev Singh Biography in Hindi) रखा था।

Swatantra Dev Singh Education – शिक्षा

स्‍वतंत्र देव सिंह ने अपनी शुरुआती पढ़ाई अपने गांव उरई के प्राईमरी स्कूल से पूरी की। इसके बाद वह साल 1984 में पुलिस विभाग में कार्यरत अपने बड़े भाई का तबादला होने पर उनके साथ ऊरई आ गए। साल 1985 में ऊरई में ही उन्‍होंने स्‍नातक में दाखिला लिया। वहीं इसके बाद साल 1986 में ऊरई के डीएवी कॉलेज से उन्‍होंने पहली बार छात्रसंघ का चुनाव (Swatantra Dev Singh Biography in Hindi) लड़ा, लेकिन इस चुनाव में उन्‍हें हार का सामना करना पड़ा।

Swatantra Dev Singh Marriage – विवाह

स्‍वतंत्र देव सिंह की शादी झांसी जिले के सिगार नामक गांव से हुई। उनकी पत्‍नी का नाम कमला देवी है।

कांग्रेस सिंह से बने स्वतंत्र देव सिंह

स्‍वतंत्र देव सिंह पहले कांग्रेस सिंह के नाम से जाने जाते (Swatantra Dev Singh Biography in Hindi) थे। क्‍योंकि जब वह राजनीति में उतरे और कांग्रेस के खिलाफ होने के कारण उनका यह नाम अखरने लगा तब राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने उन्‍हें स्‍वतंत्र देव सिंह नाम दिया। उनका नया नाम स्‍वतंत्र भारत अखबार से प्रेरित था। कांग्रेस सिंह स्‍वतंत्र भारत अखबार में रिपोर्टर थे।

Swatantra Dev Singh Career – स्‍वतंत्र देव सिंह का करियर

स्‍वतंत्र देव सिंह का जीवन परिचय (Swatantra Dev Singh Biography in Hindi) उनके करियर की बात किए बिना अधूरा ही रहेगा। दरअसल स्‍वतंत्र देव सिंह बेहद गरीबी में पले-बढ़े थे। ऐसे में उन्‍होंने अपने जीवन (Swatantra Dev Singh Wikipedia in Hindi) में कभी हार नहीं मानी और हमेशा आगे बढ़ने की प्रेरणा लेकर वह अपने जीवन में नए लक्ष्‍यों को तलाशते रहे। आइए जानते हैं कैसा रहा है स्‍वतंत्र देव सिंह का राजनीतिक सफर… 

जालौन से शुरू हुआ राजनीतिक सफर

स्‍वतंत्र देव सिंह मूल रूप से उत्‍तर प्रदेश के मिर्जापुर के निवासी हैं। पुलिस विभाग में तैनात उनके भाई श्रीपत सिंह का तबादला होने के बाद वे अपने भाई के साथ साल 1984 में जालौन (ऊरई) आ गए। यहीं से उन्‍होंने जीव विज्ञान में स्‍नातक की उपाधि हासिल की। साल 1986 में स्‍वतंत्र देव सिंह ने राजनीति में अपना पहला कदम (Swatantra Dev Singh Biography in Hindi) रखा। वह ऊरई के डीएवी डिग्री कॉलेज से छात्रसंघ का चुनाव लड़े, लेकिन हार गए।

आरएसएस से जुड़े स्‍वतंत्र देव सिंह

साल 1986 में छात्रसंघ चुनाव में मिली हार के बाद भी वह एबीवीपी के साथ जुड़े रहे। इसके बाद साल 1986 में ही वह राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ से जुड़े और संघ प्रचारक के तौर पर काम (Swatantra Dev Singh Biography in Hindi) करना शुरू किया। इसके बाद साल 1988 और 1989 के बीच उन्‍हें एबीवीपी का संपर्क मंत्री बनाया गया।

फिर बीजेपी में मिली अहम जिम्‍मेदारी

स्‍वतंत्र देव सिंह की कुशल नेतृत्‍व क्षमता को देखते हुए साल 1991 में उन्‍हें बीजेपी कानपुर की युवा शाखा का मोर्चा प्रभारी बनाया गया। वहीं इसके बाद उन्‍हें बीजेपी ने बुंदेलखंड में अहम जिम्‍मदारी सौंपी और 1994 में उन्‍हें बुंदेलखंड युवा मोर्चा का प्रभारी नियुक्‍त (Swatantra Dev Singh Biography in Hindi) किया गया। इसके बाद साल 1996 और 1998 में उन्‍हें युवा मोर्चा का महामंत्री नियुक्‍त किया गया। वहीं फिर साल 2001 में वे बीजेपी युवा मोर्चा के प्रदेश अध्‍यक्ष भी नियुक्‍त किए गए।

एमएलसी चुने गए स्‍वतंत्र देव सिंह

साल 2004 में स्‍वतंत्र देव सिंह को बुंदेलखंड से झांसी-जालौन-ललितपुर विधान परिषद का सदस्‍य चुना गया। इसके साथ ही वह प्रदेश महामंत्री के पद पर भी नियुक्‍त किए गए। वहीं साल 2010 में उन्‍हें बीजेपी प्रदेश उपाध्‍यक्ष के पद पर भी नियुक्‍त किया गया। साल 2004 से लेकर 2014 तक वे दो बार प्रदेश महामंत्री के पद पर रहे। साल 2012 में उन्‍हें दोबारा प्रदेश महामंत्री बनाया गया। प्रदेश महामंत्री के पद पर रहकर ही उन्‍होंने साल 2017 में बीजेपी को बुंदेलखंड में भारी जीत दिलाई थी।

योगी आदित्‍यनाथ सरकार में बने मंत्री

साल 2017 में उत्‍तर प्रदेश में बीजेपी पूर्ण बहुमत के साथ सरकार में आई और योगी आदित्‍यनाथ को मुख्‍यमंत्री चुना गया। इस दौरान स्‍वतंत्र देव सिंह को योगी आदित्‍यनाथ की कैबिनेट में अहम जिम्‍मेदारी (Swatantra Dev Singh Biography in Hindi) सौंपी गई। उन्‍हें ऊर्जा राज्‍यमंत्री के साथ परिवहन और प्रोटोकॉल मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) भी नियुक्‍त किया गया।

फिर बने उत्‍तर प्रदेश बीजेपी अध्‍यक्ष

स्‍वतंत्र देव सिंह को 16 जुलाई 2019 को उत्‍तर प्रदेश बीजेपी का अध्‍यक्ष नियुक्‍त किया गया। उत्‍तर प्रदेश अध्‍यक्ष रहते हुए स्‍वतंत्र देव सिंह ने पार्टी की संगठनात्‍मक शक्ति को पूरे राज्‍य में और भी ज्‍यादा मजबूती दिलाई। यही कारण है कि उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में एक बार फिर जनता ने बीजेपी पर भरोसा जताया और भारतीय जनता पार्टी लगातार दूसरी बार उत्‍तर प्रदेश में सत्‍ता में आई। संगठनात्‍मक स्‍तर पर स्‍वतंत्र देव सिंह के कुशल नेतृत्‍व के कारण ही यूपी में कोई पार्टी 37 सालों के बाद लगातार दूसरी बार सत्‍ता में (Swatantra Dev Singh Biography in Hindi) वापस आई।

योगी 2.0 सरकार में बनाये गए कैबिनेट मंत्री

स्वतंत्र देव सिंह को योगी आदित्यनाथ 2.0 सरकार में कैबिनेट मंत्री नियुक्त किया गया है। 25 मार्च 2022 को उन्होंने उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री के पद और गोपनीयता की शपथ ग्रहण की।

स्‍वतंत्र देव सिंह को मिले मंत्रालय

योगी आदित्‍यनाथ 2.0 सरकार में कैबिनेट मंत्री बनाए गए स्‍वतंत्र देव सिंह को 7 अहम मंत्रालयों की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है। स्‍वतंत्र देव सिंह के पास जल शक्ति मंत्रालय, नमामि गंगे व ग्रामीण जलापूर्ति विभाग, सिंचाई एवं जल संसाधन मंत्रालय, सिंचाई (यांत्रिकी) विभाग, लघु सिंचाई विभाग, परती भूमि विकास मंत्रालय, बाढ़ नियंत्रण मंत्रालय रहेंगे।

यूपी बीजेपी अध्यक्ष पद से इस्तीफा

भारतीय जनता पार्टी के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। दरअसल उनका तीन साल का कार्यकाल खत्म हो चुका था। हालांकि अभी आधिकारिक तौर पर उनके इस्तीफे की पुष्टि नहीं हुई है।

FAQ’s

स्‍वतंत्र देव सिंह कौन हैं?

स्‍वतंत्र देव सिंह उत्‍तर प्रदेश बीजेपी के अध्‍यक्ष हैं।

स्‍वतंत्र देव सिंह का असली नाम क्‍या है?

स्‍वतंत्र देव सिंह को पहले कांग्रेस सिंह के नाम से जाना जाता था।

2017 में स्‍वतंत्र देव सिंह कौन से मंत्रालय का कार्यभार संभालते थे?

2017 में स्‍वतंत्र देव सिंह को ऊर्जा राज्‍यमंत्री के साथ परिवहन और प्रोटोकॉल मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) भी नियुक्‍त किया गया था।

स्‍वतंत्र देव सिंह की पत्‍नी का क्‍या नाम है?

स्‍वतंत्र देव सिंह की पत्‍नी का नाम कमला देवी है।

Leave a Comment

गिलोय के फायदे और नुकसान | Giloy Benefits Side Effects in Hindi शादीशुदा पुरुष रोज ऐसे खाएं सिर्फ 2 अखरोट, मिलेंगे जबरदस्त फायदे आपके सफेद बालों का काला बना सकती है कलौंजी? यहां जानिए डायबिटीज मरीजों के लिए बेहद फायदेमंद है अखरोट, ऐसे करें सेवन जीरा खाने के फायदे और नुकसान | Cumin Seeds Benefits Hindi