Neeraj Chopra Biography in Hindi | नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय

Neeraj Chopra Biography in Hindi : ओलंपिक में गोल्‍ड मेडल का 13 सालों का सूखा शनिवार को आखिर खत्‍म हो ही गया। दरअसल शनिवार को नीरज चोपड़ा ने भारत के लिए 13 सालों के बाद गोल्‍ड मेडल जीता। बता दें कि इससे पहले बीजिंग ओलंपिक में अभिनव बिंद्रा ने शूटिंग में गोल्‍ड मेडल हासिल किया था। व्‍‍यक्तिगत तौर पर ये अब तक का भारत का दूसरा गोल्‍ड मेडल है। आइए आज जानते हैं नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय (Neeraj Chopra Biography in Hindi)…

Neeraj Chopra Biography

नीरज चोपड़ा जीवनी – Neeraj Chopra Biography in Hindi

नामनीरज चोपड़ा
पिता का नामसतीश कुमार
मां का नामसरोज देवी
जन्‍म तिथि (उम्र)24 दिसंबर 1997 (23 वर्ष)
जन्‍म स्‍थानपानीपत, हरियाणा
शिक्षास्‍नातक
नेट वर्थकरीब 5 मिलियन डॉलर
कोचउवे होन
पेशाजैवलिन थ्रो
विश्‍व रैंकिंग4

कौन हैं नीरज चोपड़ा? – Who is Neeraj Chopra in Hindi

नीरज चोपड़ा भारतीय जैवलिन थ्रोअर हैं या यूं कहें कि वह भारतीय ट्रैक और फील्ड एथलीट प्रतियोगिता में भाला फेंकने वाले खिलाड़ी हैं। नीरज ने टोक्‍यो ओलंपिक 2021 में 87.58 मीटर भाला फेंककर भारत के लिए गोल्‍ड मेडल जीतकर इतिहास रच दिया है। इससे पहले 2016 के दक्षिण एशियाई खेलों में नीरज चोपड़ा ने भारतीय राष्‍ट्रीय रिकॉर्ड की बराबरी करते हुए गोल्‍ड मेडल जीता था।

नीरज चोपड़ा पर पैसों की बारिश : अब तक मिले इतने करोड़ रुपए, नई कार और बहुत कुछ

जन्‍म और प्रारंभिक जीवन – Born and Early Life

नीरज चोपड़ा का जन्‍म हरियाणा के पानीपत में 24 दिसंबर 1997 को हुआ था। नीरज चोपड़ा के पिता का नाम सतीश कुमार और माता का नाम सरोज देवी है। उनके पिता एक किसान और माता गृहणी हैं। उनकी दो बहनें भी हैं। नीरज ने 2016 में जब गोल्‍ड मेडल जीता था, तब उन्‍हें आर्मी में जूनियर कमिशंड ऑफिसर के तौर पर नियुक्‍त किया गया था।

भारतीय सेना में नियुक्ति के बाद नीरज चोपड़ा ने बताया था कि वह एक गरीब किसान परिवार से आते हैं। वह संयुक्‍त परिवार में रहते हैं। उनके परिवार में किसी के पास भी सरकारी नौकरी नहीं है। इसीलिए परिवार के सभी लोग उनके लिए बेहद खुश हैं। उन्‍होंने आगे कहा था कि अब वह अपनी ट्रेनिंग जारी रखने के साथ-साथ परिवार की भी आर्थिक मदद कर पाने में सक्षम होंगे।

शिक्षा (Education)

नीरज चोपड़ा ने अपनी प्रारंभिक पढ़ाई हरियाणा से ही की है। जानकारी के मुत‍ाबिक, प्रारंभिक पढ़ाई पूरी करने के बाद नीरज चोपड़ा ने स्‍नातक की डिग्री हासिल की।

कोच (Coach)

उवे होन नीरज चोपड़ा के कोच हैं। वे जर्मनी के पेशेवर जैवलीन थ्रो एथलीट रह चुके हैं। नीरज चोपड़ा के शानदार प्रदर्शन में उनके कोच उवे होन की सबसे महत्‍वपूर्ण भूमिका रही है।

उपलब्धियां (Achievements)

  1. नीरज चोपड़ा ने साल 2015 में इंटर यूनिवर्सिटी चैंपियनशिप में भाला फेंककर 81.04 मीटर की दूरी का एज ग्रुप रिकॉर्ड अपने नाम किया था।
  2. साल 2016 में नीरज ने जूनियर वर्ल्‍ड चैंपियनशिप में भाला फेंककर 86.48 मीटर का विश्‍वरिकॉर्ड बनाया था और गोल्‍ड मेडल हासिल किया था।
  3. इसके साथ ही साल 2016 में ही उन्‍होंने दक्षिण एशियाई खेलों में 82.23 मीटर भाला फेंककर गोल्‍ड मेडल हासिल किया था।
  4. साल 2017 में एशियाई एथलेटिक्‍स चैंपियनशिप में नीरज ने 85.23 मीटर भाला फेंककर गोल्‍ड जीता था।
  5. कॉमनवेल्‍थ खेलों में साल 2018 में नीरज ने 86.47 मीटर भाला फेंककर गोल्‍ड जीता था।
  6. उन्‍होंने साल 2018 में ही जकार्ता एशियन गेम्‍स में 88.06 मीटर भाला फेंककर गोल्‍ड मेडल हासिल किया था।

नीरज चोपड़ा ने जीती डायमंड लीग

भारत के स्‍टार जैवलिन थ्रोवर नीरज चोपड़ा ने एक बार फिर इतिहास रच दिया है। नीरज ने डायमंड लीग 2022 के फाइनल मुकाबले को जीत लिया है। यहां उन्‍होंने 88.44 मीटर का थ्रो फेंककर यह खिताब अपने नाम किया है। बता दें कि ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी भारतीय खिलाड़ी ने डायमंड लीग खिताब अपने नाम किया है।

FAQ’s

Q : नीरज चोपड़ा की उम्र कितनी है?

Ans : नीरज चोपड़ा की उम्र 23 साल है।

Q : नीरज चोपड़ा की लंबाई कितनी है?

Ans : नीरज चोपड़ा की लंबाई 5 फुट 10 इंच है।

Q : नीरज चोपड़ा का धर्म और जाति क्‍या है?

Ans : नीरज चोपड़ा हिंदू धर्म से आते हैं और वह हिंदू रोर मराठा जाति से हैं।

Q : नीरज चोपड़ा का टोक्‍यो ओलंपिक 2021 में बेस्‍ट थ्रो कितना है?

Ans : टोक्‍यो ओलंपिक 2021 में नीरज चोपड़ा ने 87.58 मीटर भाला फेंककर स्‍वर्ण पदक अपने नाम किया।

Q : जैवलिन थ्रो में ओलंपिक में अब तक का सबसे बेस्‍ट रिकॉर्ड कितनी दूरी का है?

Ans : जैवलिन थ्रो में ओलंपिक में अब तक का सबसे बेस्‍ट रिकॉर्ड 90.57 मीटर का है।

Leave a Comment

उमरान मलिक ने डेब्यू मैच में ही रचा इतिहास, डाली सबसे तेज गेंद RCB का साथ देने आ रहा है ये ओपनर, 2021 में मचाई थी तबाही IPL 2023 में विराट कोहली फिर संभालेंगे कप्‍तानी? जीत पर नजर मेथी के फायदे और नुकसान तुलसी के फायदे और नुकसान | Tulsi Ke Fayde Aur Nuksan