Mallikarjun Kharge Biography in Hindi | मल्लिकार्जुन खड़गे का जीवन परिचय

मल्लिकार्जुन खड़गे (Mallikarjun Kharge) 50 सालों से भी अधिक समय से कर्नाटक राज्य में कांग्रेस की कमान सम्भाल रहे हैं। वह कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं में से एक हैं। कर्नाटक राज्य से लेकर कांग्रेस की केंद्र की राजनीति तक में मल्लिकार्जुन खड़गे सदैव शामिल रहते हैं। मल्लिकार्जुन खड़गे कर्नाटक की गुरमितकाल विधानसभा सीट से लगातार 9 बार विधायक रह चुके हैं। वहीं अभी हाल ही में उन्‍हें कांग्रेस पार्टी का राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष भी चुना गया है।

Mallikarjun Kharge Biography in Hindi

साल 2009 में इन्होंने कर्नाटक की ही गुलबर्गा विधानसभा सीट से लोकसभा के लिए चुनाव लड़ा और इनकी लोकप्रियता ने इन्हें केंद्र की राजनीतिकी ओर सांसद के रूप में अग्रसर किया। मल्लिकार्जुन खड़गे ने कर्नाटक की राज्य सरकार में विभिन्न पदों पर मंत्री के रूप में कार्य किया और उसके बाद इन्होंने केंद्र की डॉ मनमोहन सिंह की सरकार में भी केन्द्रीय मंत्री के विभिन्न पदों पर कार्य किया।

इन्होने अपने राजनैतिक जीवन की शुरुआत एक छात्रनेता के रूप में की थी, जिसके बाद इन्होने अपनी मेहनत और लगन से केंद्र तक की राजनीति में जगह बनाई। आइये जानते हैं मल्लिकार्जुन खड़गे का जीवन परिचय (Mallikarjun Kharge Biography in Hindi)…

मल्लिकार्जुन खड़गे की जीवनी – Mallikarjun Kharge Biography in Hindi

नाममल्लिकार्जुन खड़गे
जन्म तिथि21 जुलाई 1942
जन्म स्थानवारवट्टी, भल्कि तालुक, बिदर, कर्नाटक 
उम्र80 वर्ष
पिता का नाममपन्ना खड़गे
माता का नामसाईंभवा खड़गे
वैवाहिक स्थितिविवाहित
विवाह की तिथि13 मई 1968
पत्नी का नामराधाबाई खड़गे
बच्चे3 पुत्र, 2 पुत्र
धर्मबौद्ध धर्म
राष्ट्रीयताभारतीय
शैक्षिक योग्यताएलएलबी, स्नातक
पेशाराजनेता, वकील
पदकांग्रेस अध्‍यक्ष, विपक्ष के नेता, राज्यसभा
राजनैतिक दलभारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
सम्पत्तिलगभग 9.48 करोड़

मल्लिकार्जुन खड़गे कौन हैं? – Who is Mallikarjun Kharge

वकालत में स्नातक की शिक्षा प्राप्त करने के बाद राजनीति को अपना कार्य क्षेत्र और अपनी जन्मभूमि को ही अपनी कर्मभूमि के रूप में चुनकर राजनीति में आने वाले मल्लिकार्जुन खड़गे वर्तमान में राजसभा में नेता प्रतिपक्ष हैं।मल्लिकार्जुन खड़गे कर्नाटक राज्य में कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं। इन्होंने कर्नाटक से लेकर दिल्ली में कांग्रेस की सरकार में विभिन्न विभागों में मंत्री के पद पर कार्य किया है।

मल्लिकार्जुन खड़गे ने अपने कदम राजनीति में साल 1972 रखे और इनके बाद इन्होने कभी पीछे मुडकर नहीं देखा। लगातार नौ बाद विधायक, दो बार सांसद और फिर कर्नाटक राज्य के कांग्रेस से प्रदेश अध्यक्ष रहे। इनका राजनैतिक करियर हमेशा ही एक अलग ऊंचाई पर रहा। अपनी साफ सुथरी छवि से ये कर्नाटक राज्य में कांग्रेस का बड़ा चेहरा हैं।

मल्लिकार्जुन खड़गे जन्म, माता-पिता – Mallikarjun Kharge Birth, Mother-Father

मल्लिकार्जुन खड़गे का जन्मकर्नाटक केवारवट्टी के भल्कि तालुक, जिला बिदर में 21 जुलाई 1942 को हुआ था। इनका जन्म एक माध्यम वर्गीय किसान परिवार में हुआ था इनके पिता का नाम  मपन्ना खड़गे था। इनकी माता का नाम साईंभवा खड़गे था।मल्लिकार्जुन खड़गे के पिता एक किसान थे और माता गृहिणी थीं।मल्लिकार्जुन खड़गे का परिवार बौध धर्म में विश्वास रखता था।

मल्लिकार्जुन खड़गे की शिक्षा – Mallikarjun Kharge Education

कर्नाटक में ही मल्लिकार्जुन खड़गे (Mallikarjun Kharge) ने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा प्राप्त की।मल्लिकार्जुन खड़गे ने वकालत में स्नातक की शिक्षाबीए एलएलबीराजकीय महाविद्यालय, गुलबर्गासे प्राप्त की। इसके बाद इन्होंने लॉ कालेज गुलबर्गा कर्नाटक विश्वविद्यालय से आगे की शिक्षा प्राप्त की। इन्होंने स्नातक में पढ़ते समय ही छात्र राजनीति में भाग लेना शुरू कर दिया था।

मल्लिकार्जुन खड़गे का वैवाहिक जीवन

मल्लिकार्जुन खड़गे का विवाह राधाबाई खड़गे के साथ 13 मई 1968 को हुआ था।मल्लिकार्जुन खड़गे की पत्नीराधाबाई खड़गे गृहिणी हैं लेकिन वह अक्सर इनके साथ राजनीति में नज़र आती रहती हैं।मल्लिकार्जुन खड़गे और राधा बाई के पांच बच्चे हैं जिनमे से 3 बेटियां और 2 बेटे हैं।मल्लिकार्जुन खड़गे के एक बेटे इन्हीं की तरह राजनीति करते हैं और वर्तमान में विधायक भी हैं और इनके 1 बेटे मेडिकल में जुड़े हुए हैं वह एक हॉस्पिटल चलते हैं।

मल्लिकार्जुन खड़गे का राजनैतिक जीवन

मल्लिकार्जुन खड़गे ने अपने राजनैतिक जीवन (Mallikarjun Kharge Wikipedia in Hindi) की शुरुआत छात्र नेता के रूप में की। जब वह स्नातक की शिक्षा प्राप्त कर रहे थे उस समय उन्होंने अपने कॉलेज में छात्रनेता के रूप में चुनाव लड़ा। पानी शिक्षा पूरी करने के कुछ समय बाद ये कांग्रेस पार्टी से जुड़ गए। साल 1969 में कांग्रेस पार्टी ने इन्हें कर्नाटक राज्य का प्रदेश अध्यक्ष बनाया। इनका रिश्ता शुरुआत से ही कांग्रेस पार्टी और गाँधी परिवार के साथ काफी अच्छा था। इन्होंने कर्नाटक में कांग्रेस पार्टी को हर कदम पर मजबूती किया।

Also Read : Salman Khurshid Biography in Hindi | सलमान खुर्शीद का जीवन परिचय

जिसके बाद साल 1972 में कोंग्रेस पार्टी ने इन्हें कर्नाटक के गुरमितकाल विधानसभा से टिकट दिया और ये चुनाव में खड़े हुए।विधायक के चुनाव में इन्होंने अच्छे अंतराल से जीत दर्ज की। जिसके बाद कांग्रेस पार्टी ने इन पर भरोषा जताया और लगातार नौ बार इन्हें गुरमितकाल विधानसभा सीट से टिकट दिया और हर बार इन्होंने जीत दर्ज की।मल्लिकार्जुन खड़गे ने कर्नाटक की गुरमीतकाल विधानसभा से साल 1972 से लेकर साल 2009 तक लगातार नौ बार विधायक का चुनाव जीता।

मल्लिकार्जुन खड़गे ने गुरमितकाल विधानसभा सीट से विधायक (Mallikarjun Kharge As MLA) रहते हुए कर्नाटक की राज्य सरकार में अलग लगा विभागों में राज्यमंत्री का पद सम्भाला। इस दौरान वह कर्नाटक में सबसे पहली बार साल 1976 से लेकर साल 1978 तक प्राथमिक तथा माध्यमिक शिक्षा राज्य मंत्री रहे। इसके बाद ये ग्रामीण विकास और पंचायती राज्य मंत्री रहे।मल्लिकार्जुन खड़गे ने कर्नाटक में जल संसाधन एवं परिवहन मंत्री, राजस्व मंत्री, ग्रामीण विकास और पंचायती राज्य मन्त्री, गृह आधारभूत संरचना एवं लघु सिंचाई मंत्री, सहकारिता मध्यम और वृहद उद्योग मंत्री जैसे तमाम पदों को सम्भाला और कर्नाटक राज्य के विकास के लिए ये सदैव तत्पर रहे।

इनका राजनैतिक जीवन यहीं तक नहीं रहा। कांग्रेस में गाँधी परिवार के साथ इनकी नजदीकियां बहुत ही ज्यादा रहीं वे हमेशा कांग्रेस पार्टी की समृद्धि के लिए कार्य करते रहे। साल 2009 में इन्होने कांग्रेस पार्टी के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ा। इनकी लोकप्रियता इतनी थी कि ये बड़े अन्तराल से गुलबर्गा लोकसभा सीट से सांसद चुने गये।

इन्होने केंद्र सरकार में मंत्रिमंडल में जगह मिली यह स्वाभाविक था क्योंकि मल्लिकार्जुन खड़गे अब तक कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं में से एक थे। केंद्र सरकार में इन्हें श्रम एवं रोजगार मंत्री का पद दिया गया।मल्लिकार्जुन खड़गे ने साल 2014 में एक बार फिर लोकसभा का चुनाव लड़ा। पूरे देश में मोदी लहर थी इसके बावजूद भी इन्होने एक बार फिर बड़े अंतर से जीत दर्ज की।

मल्लिकार्जुन खड़गे को कर्नाटक राज्य से साल 2020 में राज्यसभा (Mallikarjun Kharge in Rajya Sabha) के लिए चुना गया। साल 2021 में इन्हें कांग्रेस पार्टी से राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष बनाया बनाया गया। 50 वर्षों से अधिक समय से राजनीति में रहने वाले मल्लिकार्जुन खड़गे वर्तमान में राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष हैं। इनका राजनैतिक जीवन काफी लम्बा रहा लेकिन ये आजीवन कांग्रेस के सिपाही बने रहे। कर्नाटक में इन्होने कांग्रेस की स्थिति को मजबूत किया। वह सिर्फ कर्नाटक ही नही पूरे देश में कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं में गिने जाते हैं।

मल्लिकार्जुन खड़गे कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष

मल्लिकार्जुन खड़गे 19 अक्टूबर 2022 को कांग्रेस पार्टी के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष (Mallikarjun Kharge Congress President Candidate) चुने गए। उन्‍होंने अपने विपक्ष में खड़े उम्‍मीदवार शशि थरूर को काफी बड़े अंतर से हराकर यह पोजीशन हासिल की।

FAQ’s

मल्लिकार्जुन खड़गे वर्तमान में क्या है?

राज्य सभा में विपक्ष के नेता और कांग्रेस अध्यक्ष पद के उम्मीदवार

मल्लिकार्जुन खड़गे किस राज्य से हैं?

कर्नाटक 

मल्लिकार्जुन खड़गे कितनी बार विधायक रहे?

9 बार

मल्लिकार्जुन खड़गे पहली बार विधायक कब बने ?

1972 में

Leave a Comment

उमरान मलिक ने डेब्यू मैच में ही रचा इतिहास, डाली सबसे तेज गेंद RCB का साथ देने आ रहा है ये ओपनर, 2021 में मचाई थी तबाही IPL 2023 में विराट कोहली फिर संभालेंगे कप्‍तानी? जीत पर नजर मेथी के फायदे और नुकसान तुलसी के फायदे और नुकसान | Tulsi Ke Fayde Aur Nuksan