Aditi Singh Biography in Hindi | अदिति सिंह का जीवन परिचय

अदिति सिंह उत्‍तर प्रदेश विधानसभा में रायबरेली की सदर सीट से विधायक हैं। वह 17वीं विधानसभा में पहली बार विधायक चुनी गईं। बता दें कि अदिति सिंह के पिता अखिलेश सिंह भी उत्‍तर प्रदेश की राजनीति का एक जाना-माना चेहरा थे। वह खुद पांच बार विधायक रह चुके हैं। आइए आज जानते हैं अदिति सिंह का जीवन परिचय (Aditi Singh Biography in Hindi)

Aditi Singh Biography in Hindi

Aditi Singh Biography in Hindi – अदिति सिंह का जीवन परिचय

पूरा नामअदिति सिंह
जन्‍म15 नवंबर 1987
आयु34 वर्ष
जन्‍मस्‍थानलखनऊ, उत्‍तर प्रदेश
पिता का नामअखिलेश सिंह
मां का नामवैशाली सिंह
बहन का नामदेवांशी सिंह
पति का नामअंगद सिंह (विधायक)
पेशाराजनीति
पार्टीभारतीय जनता पार्टी
विधायकरायबरेली सदर से (17वीं विधानसभा)
धर्महिंदू
जातिक्षत्रिय
शैक्षिक योग्‍यतास्‍नातकोत्‍तर

Who is Aditi Singh in Hindi – कौन हैं अदिति सिंह

अदिति सिंह उत्‍तर प्रदेश विधानसभा की सदस्‍य हैं। वह रायबरेली की सदर सीट से यूपी विधानसभा 2017 का चुनाव जीतकर पहली बार 17वीं विधानसभा की सदस्‍य चुनी गई थीं। कांग्रेस पार्टी से निलंबन के बाद अब 24 नवंबर 2021 के दिन अदिति सिंह ने भारतीय जनता पार्टी की सदस्‍यता ग्रहण कर ली।

Aditi Singh Birthday and Mother-Father in Hindi – अदिति सिंह का जन्‍म व माता-पिता

15 नवंबर 1987 के दिन अदिति सिंह का जन्‍म उत्‍तर प्रदेश के लखनऊ शहर में हुआ था। अदिति सिंह के पिता का नाम अखिलेश कुमार सिंह और मां का नाम वैशाली सिंह है। अखिलेश सिंह उत्‍तर प्रदेश की रायबरेली सदर सीट से पांच बार विधायक रह चुके हैं। 20 अगस्‍त 2019 के दिन कैंसर के कारण अदिति के पिता का निधन हो गया था। अदिति सिंह की एक बहन भी हैं, जिनका नाम देवांशी सिंह है।

Aditi Singh Marriage – अदिति सिंह का वैवाहिक जीवन

उत्‍तर प्रदेश की रायबरेली सदर सीट से विधायक अदिति सिंह के पति का नाम अंगद सिंह सैनी है। अंगद सिंह पंजाब के नवां शहर (अब शहीद भगत सिंह नगर) से कांग्रेस विधायक हैं। 21 नवंबर 2019 के दिन अदिति और अंगद ने शादी की थी।

Sambit Patra Biography in Hindi | संबित पात्रा का जीवन परिचय

Aditi Singh Education in Hindi – शिक्षा

अदिति सिंह जब 6 साल की थीं, तभी उनके माता-पिता ने उन्‍हें मसूरी के एक बोर्डिंग स्‍कूल भेज दिया था। अपनी शुरूआती पढ़ाई उन्‍होंने यहीं से पूरी की। इसके बाद उन्‍होंने अमेरिका की ड्यूक यूनिवर्सिटी से मैनेजमेंट में स्‍नातकोत्‍तर की डिग्री हासिल की।

Aditi Singh Career in Hindi – अदिति सिंह का करियर

अदिति सिंह की जीवनी (Aditi Singh Biography in Hindi) उनके करियर की बात किए बिना पूरी नहीं होगी। दरअसल अमेरिका में पढ़ाई करने के बाद अदिति ने राजनीति में कदम क्‍यों रखा? अदिति सिंह की ये कहानी (Aditi Singh Wiki in Hindi) बेहद ही दिलचस्‍प है।

अमेरिका में पढ़ाई के बाद इंटर्नशिप

एक इंटरव्‍यू में अदिति ने बताया था कि उन्‍होंने अमेरिका की ड्यूक यूनिवर्सिटी से मैनेजमेंट‍ की डिग्री हासिल की। इसके साथ ही उन्‍होंने एक फैशन हाउस में चार महीने की अनपेड इंटर्नशिप भी की थी। दरअसल पहले अदिति अपना करियर फैशन के क्षेत्र में ही बनाना चाहती थीं।

एक गरीब बच्‍चे की बात सुनकर रखा राजनीति में कदम

इं‍टरव्‍यू में अदिति ने बताया था कि डिग्री पूरी करने के बाद जब वह अपने घर रायबरेली आईं, तब यहां के रहन-सहन से अंजान थीं। उन्‍होंने बताया कि वह शहर के गरीब लोगों की जिंदगी देखकर अंदर से हिल गई थीं। एक बार एक गरीब बच्‍चा उनके घर के बाहर खड़ा था, जिसने फटे हुए कपड़े पहन रखे थे। उस बच्‍चे ने अदिति को अपने साथ खेलने के लिए कहा, तो वह उसके साथ खेलने लगीं। कुछ समय बाद वह बच्‍चा अदिति से बोला कि आप यहीं रहो, विदेश न जाओ, मेरे साथ रोजाना खेला करो।

फिर रखा राजनीति में कदम

अदिति ने आगे बताया था कि बच्‍चे की बातें सुनकर उन्‍होंने उस पर काफी सोच‍ विचार किया। इसके बाद उन्‍होंने राजनीति में उतरने का फैसला लिया, और अपने पिता की तरह की लोगों की सेवा को अपना धर्म बना लिया।

साल 2017 में‍ चुनीं गई विधायक

राजनीति में उतरने का फैसला करने के बाद अदिति ने पहली बार उत्‍तर प्रदेश की 17वीं विधानसभा का चुनाव लड़ा। साल 2017 में कांग्रेस पार्टी के टिकट पर वह रायबरेली की सदर सीट से विधानसभा सदस्‍य चुनी गईं।

कांग्रेस से निलंबन

उत्‍तर प्रदेश की योगी आदित्‍यनाथ सरकार और कांग्रेस पार्टी के बीच साल 2020 में चल रहे बस विवाद पर अदिति सिंह ने सीएम योगी की तारीफ करते हुए कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधा था। इसके बाद कांग्रेस ने उन्‍हें पार्टी से निलंबित कर दिया था। इसके साथ ही उनसे कांग्रेस महिला विंग की महा‍सचिव का पद भी छीन लिया गया था।

अदिति सिंह बीजेपी में शामिल

काफी लंबे समय से ऐसा माना जा रहा था कि अदिति सिंह भारतीय जनता पार्टी में शामिल होंगी। दरअसल बीते कई मुद्दों पर अदिति ने कांग्रेस के खिलाफ मुखर होकर बयान दिए और उत्‍तर प्रदेश की योगी आदित्‍यनाथ सरकार की खूब तारीफ की। इसके बाद अब 24 नवंबर 2021 के दिन अदिति सिंह ने औपचारिक रूप से भाजपा की सदस्‍यता ग्रहण कर ली।

बीजेपी से जीतीं 2022 UP विधानसभा चुनाव

कांग्रेस पार्टी को छोड़कर बीजेपी का दामन थामने वाली अदिति सिंह ने उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में रायबरेली सदर सीट पर बीजेपी का परचम लहरा दिया है। बता दें कि उत्‍तर प्रदेश की 180 रायबरेली सदर सीट पर चौथे चरण में मतदान हुआ था। इस चुनाव में बीजेपी की अदिति सिंह ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी समाजवादी पार्टी के राम प्रताप यादव को 7175 वोटों से हराया। बता दें कि साल 1993 से रायबरेली की इस सीट पर कांग्रेस का कब्‍जा रहा है, लेकिन इस बार अदिति सिंह ने कांग्रेस का किला ध्‍वस्‍त कर दिया।

FAQ’s

Q : अदिति सिंह कौन हैं?
Ans : 
अदिति सिंह उत्‍तर प्रदेश विधानसभा की सदस्‍य हैं। वह रायबरेली की सदर सीट से यूपी विधानसभा 2017 का चुनाव जीतकर पहली बार 17वीं विधानसभा की सदस्‍य चुनी गई थीं।

Q : अदिति सिंह के पिता कौन हैं?
Ans :
अदिति सिंह के पिता का नाम अखिलेश कुमार सिंह है। अखिलेश सिंह उत्‍तर प्रदेश की रायबरेली सदर सीट से पांच बार विधायक रह चुके हैं। 20 अगस्‍त 2019 के दिन कैंसर के कारण अदिति के पिता का निधन हो गया था।

Q : अदिति सिंह के पति का नाम क्‍या है?
Ans : 
उत्‍तर प्रदेश की रायबरेली सदर सीट से विधायक अदिति सिंह के पति का नाम अंगद सिंह सैनी है। अंगद सिंह पंजाब के नवां शहर (अब शहीद भगत सिंह नगर) से कांग्रेस विधायक हैं।

Q : अदिति सिंह भाजपा में कब शामिल हुईं?
Ans : 
24 नवंबर 2021 के दिन अदिति सिंह ने औपचारिक रूप से भाजपा की सदस्‍यता ग्रहण कर ली।

Leave a Comment

जानिए अखरोट खाने के जबरदस्‍त फायदे और नुकसान जीरा खाने के फायदे और नुकसान | Cumin Seeds Benefits Hindi पुरूषों के लिए बेहद लाभकारी है लहसुन, इस तरह से करें प्रयोग अखरोट खाने से दूर हो जाएंगी ये बिमारियां, ऐसे करें उपयोग इस बीमारी का रामबाण इलाज है तुलसी, ऐसे करें सेवन