Mulayam Singh Yadav Biography in Hindi | मुलायम सिंह यादव का जीवन परिचय

मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) समाजवादी पार्टी के संस्‍थापक हैं। राजनेता होने के साथ-साथ वह उत्तर भारत के किसान नेता भी हैं। मुलायम सिंह यादव का जन्म एक साधारण किसान परिवार में हुआ था लेकिन आज वह एक ऐसे नेता के रूप में जाने जाते हैं जिन्होंने देश और प्रदेश की सियासत में एक बड़ी पहचान बनाई।

Mulayam Singh Yadav Biography in Hindi

मुलायम सिंह यादव तीन बार उत्‍तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। इसके साथ ही मुलायम एक बार देश के रक्षा मंत्री भी रह चुके हैं। उन्होंने ही समाजवादी पार्टी का गठन किया था। मुलायम सिंह के नेतृत्व में कई बार समाजवादी पार्टी ने जीत हासिल की है। आइए आज जानते हैं मुलायम सिंह यादव का जीवन परिचय (Mulayam Singh Yadav Biography in Hindi)

Table of Contents

Mulayam Singh Yadav Biography in Hindi – मुलायम सिंह यादव का जीवन परिचय

पूरा नाममुलायम सिंह यादव
जन्‍म22 नवंबर 1939
निधन10 अक्टूबर 2022
आयु82 वर्ष
जन्‍मस्‍थानसैफई, इटावा, उत्‍तर प्रदेश
पिता का नामसुघर सिंह यादव
माता का नाममूर्ति देवी
भाईरतन सिंह यादव,
अभय राम सिंह यादव,
शिवपाल सिंह यादव
राजपाल सिंह
बहनकमला देवी
पहली पत्‍नी का नाममालती देवी
दूसरी पत्‍नी का नामसाधना गुप्‍ता
बच्‍चेअखिलेश यादव

 

प्रतीक यादव

पेशाराजनीति
पार्टीसमाजवादी पार्टी
पदसंरक्षक
नेटवर्थ16.52 करोड़ रुपए (2019 तक)

Who is Mulayam Singh Yadav in Hindi – कौन हैं मुलायम सिंह यादव

मुलायम सिंह यादव समाजवादी पार्टी के संस्‍थापक हैं। वह तीन बार उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री रह चुके हैं। इसके साथ ही वह एक बार देश के रक्षा मंत्री भी रह चुके हैं। वर्तमान में मुलायम सिंह यादव समाजवादी पार्टी के संरक्षक हैं। इसके साथ ही वह अभी मैनपुरी सीट से लोकसभा सदस्‍य भी हैं।

Mulayam Singh Yadav Birthdate and Mother-Father in Hindi – मुलायम सिंह यादव का जन्‍म व माता-पिता

22 नवंबर 1939 के दिन मुलायम सिंह यादव का जन्‍म उत्‍तर प्रदेश के इटावा जिले के सैफई गांव में एक किसान परिवार के यहां हुआ था। मुलायम सिंह यादव के पिता का नाम सुघर सिंह यादव है। वहीं मुलायम सिंह यादव की मां का नाम मूर्ति देवी है।

Mulayam Singh Yadav Biography in Hindi

Mulayam Singh Yadav Brother-Sister in Hindi – भाई-बहन

मुलायम सिंह यादव के पांच भाई बहन हैं। इनमें मुलायम सिंह यादव, रतन सिंह यादव से छोटे हैं और अभयराम सिंह यादव, शिवपाल सिंह यादव, राजपाल सिंह यादव तथा बहन कमला देवी से बड़े हैं। वहीं रामगोपाल यादव, मुलायम सिंह यादव के चचेरे भाई हैं।

Mulayam Singh Yadav Married life in Hindi – वैवाहिक जीवन

मुलायम सिंह यादव जब 18 साल के थे तभी उनकी शादी कर दी गई थी। मुलायम सिंह की शादी रायपुर गांव से हुई थी, जो सैफई से करीब 20 किलोमीटर दूर था। मुलायम सिंह यादव की पत्नी का नाम मालती देवी था। मालती देवी मुलायम सिंह यादव की पहली पत्‍नी थीं। मालती देवी ने साल 1973 में अखिलेश यादव को जन्म दिया।

इसके बाद लम्बी बीमारी के चलते साल 2003 में उनका निधन हो गया। वहीं इसी साल मुलायम सिंह ने साधना गुप्‍ता से विवाह कर लिया। साल 1988 में साधना गुप्‍ता ने प्रतीक यादव को जन्म दिया। शादी से पहले मुलायम सिंह यादव और साधना गुप्‍ता के रिश्तों को लेकर तमाम तरह की बातें भी कही जाती थीं। मुलायम सिंह ने जब साधना से शादी की, तब वह तलाकशुदा थीं।

Mulayam Singh Yadav Career in Hindi – मुलायम सिंह यादव का करियर

मुलायम सिंह यादव का जीवन परिचय (Mulayam Singh Yadav Biography in Hindi) उनके करियर की जानकारी के बिना पूरा नहीं हो सकता। आइए जानते हैं कैसा रहा है मुलायम सिंह यादव का करियर…

पिता बनाना चाहते थे पहलवान

मुलायम सिंह यादव के पिता उन्हें पहलवान बनाना चाहते थे। यही कारण था कि मुलायम सिंह यादव पहलवानी में भी खूब दमखम रखते थे। चौधरी नत्‍थूसिंह को वह अपना राजनीतिक गुरू मानते थे, क्‍योंकि मुलायम सिंह यादव ने अपना पहला चुनाव उसी सीट (जसवंत नगर) से लड़ा था जिससे नत्‍थूसिंह लड़ते चले आ रहे थे।

पहली बार बने विधायक

मुलायम सिंह यादव ने अपना राजनीतिक सफर विधायक के रुप में ही शुरू किया था। मुलायम सिंह ने अपना पहला विधानसभा चुनाव साल 1967 में जसवंत नगर सीट से लड़ा था और जीत हासिल की थी। इस चुनाव में उन पर समाजवादी छवि वाले नेता और मुलायम के गुरू राम सेवक यादव का भी हाथ था। मुलायम सिंह यादव ने यह चुनाव संयुक्‍त सोशलिस्‍ट पार्टी के टिकट पर लड़ा था।

साल 1992 में किया समाजवादी पार्टी का गठन

मुलायम सिंह यादव ने साल 1992 में समाजवादी पार्टी का गठन किया था। समाजवादी पार्टी आज पूरे देश में अपना जो मुकाम रखती है उसका पूरा श्रेय मुलायम सिंह यादव को ही जाता है। मुलायम सिंह यादव के नेतृत्व में पार्टी ने कई चुनावों में जीत हासिल की। साल 2012 में समाजवादी पार्टी को उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में पूर्ण बहुमत मिला था।

तीन बार बने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री

मुलायम सिंह यादव तीन बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। पहली बार वह साल 1989 में मुख्यमंत्री बने थे। उनका यह कार्यकाल एक साल 201 दिन का था। वहीं दूसरी बार मुलायम सिंह यादव साल 1993 में मुख्यमंत्री बने। उनका यह कार्यकाल 1 साल 6 महीने का रहा। वहीं तीसरी बार वह साल 2003 में मुख्यमंत्री चुने गए।

देश के रक्षा मंत्री भी रहे मुलायम

समय बीतने के साथ ही मुलायम सिंह यादव की पहचान देश के बड़े नेताओं में की जाने लगी। उत्‍तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी का कद भी बढ़ता गया। यही कारण था कि मुलायम सिंह यादव प्रदेश की राजनीति से भी ऊपर निकले और साल 1996 में केंद्र सरकार में उन्‍हें रक्षा मंत्री चुना गया।

सहकारी बैंक के निदेशक भी रहे मुलायम

मुलायम सिंह यादव जसवंतनगर और इटावा के सहकारी बैंक के निदेशक भी रह चुके हैं। वहीं राजनीति में आने से पहले मुलायम सिंह यादव स्‍कूल में अध्‍यापन कार्य भी किया करते थे। राजनीति में आने के बाद मुलायम ने अध्‍यापन कार्य से इस्‍तीफा दे दिया था।

कांग्रेस सरकार में रहे राज्य मंत्री

मुलायम सिंह यादव पहली बार साल 1977 में मंत्री बने थे। इस समय उत्‍तर प्रदेश में कांग्रेस विरोधी लहर थी जिसके कारण जनता पार्टी ने अपनी सरकार बनाई थी। वहीं साल 1980 में कांग्रेस सरकार फिर वापस आई, तब मुलायम सिंह यादव को राज्‍य मंत्री बनाया गया था। इसके बाद मुलायम चौधरी चरण सिंह के लोक दल के अध्यक्ष भी बने लेकिन विधानसभा चुनाव हार गए थे।

देश के रक्षा मंत्री के पद पर किया कार्य

साल 1996 में मुलायम सिंह यादव को मैनपुरी लोकसभा क्षेत्र से पहली बार सांसद चुना गया था। उस समय की संयुक्त मोर्चा सरकार में मुलायम सिंह यादव भी शामिल थे। इसी दौरान वह देश के रक्षा मंत्री भी रहे थे।

Mulayam Singh Yadav Controversies in Hindi – मुलायम सिंह यादव से जुड़े विवाद

1990 – अयोध्‍या गोलीकांड

1994 – रामपुर तिराहा गोलीकांड

साल 2009 में हुए लोकसभा चुनाव अभियान में मुलायम सिंह यादव ने अंग्रेजी और कंप्यूटर की शिक्षा समाप्त करने की बात कही थी। उनका कहना था कि इससे बेरोजगारी फैलती है। जिसकी वजह से वह विवादों में घिर गए थे।

2015 में मुलायम सिंह यादव पर पूर्व आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर को धमकाने का आरोप भी लगा था। इसका एक ऑडियो भी खूब वायरल हुआ था। इसके बाद सीजेएम सोमप्रभा मिश्रा, लखनऊ ने मुलायम सिंह यादव के खिलाफ आईपीसी की धारा 156(3) के तहत एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया था।

साल 2015 में ही एक भाषण के दौरान बलात्कार की घटनाओं को लेकर मुलायम सिंह यादव ने विवादित बयान दिया था।

मुलायम सिंह यादव का निधन – Mulayam Singh Yadav death news

धरतीपुत्र मुलायम सिंह यादव का आज निधन हो गया। वह बीते कई दिनों से बीमार चल रहे थे। वह गुरुग्राम के मेदांता हॉस्पिटल के आईसीयू में भर्ती थे। 10 अक्टूबर को सुबह 8 बजकर 30 मिनट पर उन्होंने अंतिम सांस ली। बता दें कि मुलायम सिंह यादव का अंतिम संस्‍कार उनके पैतृक गांव सैफई में किया जाएगा।

FAQ’s

मुलायम सिंह यादव का जन्म कब हुआ?

मुलायम सिंह यादव का जन्म 22 नवंबर 1939 में उत्तर प्रदेश के इटावा के सैफई गांव में साधारण किसान परिवार में हुआ।

मुलायम सिंह ने समाजवादी पार्टी का गठन कब किया?

मुलायम सिंह ने समाजवादी पार्टी का गठन 1992 में किया।

मुलायम सिंह यादव मुख्यमंत्री कब बने?

मुलायम सिंह यादव पहली बार साल 1989, दूसरी बार 1993 तथा तीसरी बार 2003 में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बन चुके हैं।

मुलायम सिंह यादव के कितने बेटे हैं?

मुलायम सिंह यादव के दो बेटे हैं, जिनका नाम अखिलेश यादव व प्रतीक यादव है।

Leave a Comment

उमरान मलिक ने डेब्यू मैच में ही रचा इतिहास, डाली सबसे तेज गेंद RCB का साथ देने आ रहा है ये ओपनर, 2021 में मचाई थी तबाही IPL 2023 में विराट कोहली फिर संभालेंगे कप्‍तानी? जीत पर नजर मेथी के फायदे और नुकसान तुलसी के फायदे और नुकसान | Tulsi Ke Fayde Aur Nuksan