HomeNationalकिसान आंदोलन बेनकाब, लाल किला हिंसा पर दिल्‍ली पुलिस ने किया बहुत...

किसान आंदोलन बेनकाब, लाल किला हिंसा पर दिल्‍ली पुलिस ने किया बहुत बड़ा खुलासा

नई दिल्‍ली। किसान आंदोलन के दौरान 26 जनवरी के दिन लाल किले पर हुई हिंसा (Violence on red fort) पूरी प्‍लानिंग के तहत की गई थी। इसकी तैयारी पहले से कर ली गई थी। इसका खुलासा दिल्‍ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने अपनी चार्जशीट में किया है। क्राइम ब्रांच ने अपनी चार्जशीट में किसान आंदोलन की असलियत को बेनकाब कर दिया है।

किसान आंदोलन

किसान आंदोलन की असलियत बेनकाब 

दिल्‍ली पुलिस की क्राइम ब्रांच टीम ने अपनी चार्जशीट में यह भी कहा है कि किन किसान नेताओं ने इस पूरी साजिश को अंजाम दिया, इसका भी पता चल गया है। इस हिंसा के तहत मोदी सरकार को बदनाम करने की पूरी साजिश रची गई थी।

दिल्ली पुलिस ने हाल ही में लाल किले पर हिंसा को लेकर चार्जशीट दाखिल की है। दिल्ली पुलिस के क्राइम ब्रांच के अधिकारियों द्वारा कोर्ट में दाखिल चार्जशीट में यह कहा गया है कि गणतंत्र दिवस के दिन यह हिंसा इसलिए की गई जिससे सरकार की ज्यादा बदनामी हो सके।

सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म्स को लेकर भारत सरकार ने दिए बड़े संकेत, कंपनियों को थमाया ये नोटिस

क्राइम ब्रांच टीम द्वारा कोर्ट में दाखिल चार्जशीट में यह भी बताया गया है कि प्रदर्शनकारियों ने नवंबर 2020 से ही लाल किले पर हिंसा की तैयारियां शुरू कर दी थी। इसके लिए नवंबर-दिसंबर में बड़ी संख्या में ट्रैक्टर खरीदे गए थे।

चार्जशीट से यह भी सामने आया है कि किसान आंदोलन के दौरान प्रदर्शनकारियों ने यह मन बना लिया था कि वह बॉर्डर की बजाय लाल किले और आसपास प्रदर्शन करेंगे। प्रदर्शनकारी लाल किले पर कब्जा करना चाहते थे ताकि प्रदर्शन के लिए वहां बैठ सकें। मगर इन सब रणनीति में एक गड़बड़ उस समय हो गई जब किले पर ही हिंसा हुई और निशान साहिब को फहराया गया, इससे डरकर वे भाग गए थे।

कोरोना वैक्‍सीन लगवा चुके लोगों के लिए भारत सरकार ने जारी की चेतावनी, न करें ऐसी गलती

लाल किले पर हिंसा के मामले में क्राइम ब्रांच ने कोर्ट में तीन हजार से ज्यादा पेज का आरोपपत्र दाखिल किया है। इसमें क्राइम ब्रांच ने उन किसान नेताओं की भूमिका को भी संदिग्ध बताया है। इन्हीं किसान नेताओं के बहकावे में आकर इस हिंसा को अंजाम दिया गया। इनके नाम भी चार्जशीट में हैं। इस हिंसा में 500 से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल हुए थे। वहीं अबतक 150 से ज्यादा प्रदर्शनकारी गिरफ्तार हो चुके हैं। कुछ किसान नेता अभी भी फरार हैं, जिनकी तलाश जारी है।

(अगर आपको देश और दुनिया की खबरों से रहना है अपडेट तो हमारे फेसबुक पेज @bolelucknow को लाइक करें और हमें ट्विटर @BoleLucknow पर फॉलो करें।)

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular