HomeInternationalजग्‍गा गुर्जर... ये नाम सुनते ही कांप उठता था पूरा लाहौर, देता...

जग्‍गा गुर्जर… ये नाम सुनते ही कांप उठता था पूरा लाहौर, देता था जग्‍गा टैक्‍स

जग्‍गा गुर्जर (Jagga Gurjar), ये नाम सुनकर एक समय में पाकिस्‍तान (Pakistan) के कई इलाके कांप उठा करते थे। दरअसल ये वही जग्‍गा गुर्जर है जिसके नाम पर लोग लाहौर में ‘जग्‍गा टैक्‍स’ (Jagga Tax) दिया करते थे। उस समय ऐसा कोई दिन शायद ही होता होगा जब पाकिस्‍तान के अखबारों में जग्‍गा गुर्जर का नाम न छपता हो। जग्‍गा गुर्जर के जीवन पर पंजाबी भाषा में कई फिल्‍में भी बनाई गईं। आइए आज आपको बताते हैं जग्‍गा गुर्जर की पूरी कहानी (Jagga Gurjar Story)…

जग्‍गा गुर्जर

जग्‍गा गुर्जर पहले था मोहम्‍मद शरीफ

बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 1960 के दशक में पाकिस्‍तान के लाहौर के इस्‍लामिया पार्क इलाके में मोहम्‍मद शरीफ नाम का एक व्‍यक्ति रहा करता था। यही मोहम्‍मद शरीफ ही बाद में कुख्‍यात अपराधी जग्‍गा गुर्जर के नाम से मशहूर हुआ। लेकिन मोहम्‍मद शरीफ जग्‍गा कैसे बना? यह कहानी बेहद ही दिलचस्‍प है।

पाकिस्‍तान की लड़की ने भारतीय तिरंगा लगाने की कही बात, तो देखिए क्‍या हुआ उसके साथ

दरअसल उस समय एक मेले में जग्‍गा गुर्जर के भाई माखन गुर्जर की लाहौर के खूंखार और कुख्‍यात बदमाश अच्‍छा शोकरवाला से लड़ाई हो गई थी। इसके बाद 1954 में माखन गुर्जर की हत्‍या कर दी गई। उस समय जग्‍गा की उम्र महज 14 साल थी। लेकिन अपने भाई की हत्‍या के एक हफ्ते बाद ही जग्‍गा ने उसके हत्‍यारे का कत्‍ल कर दिया था। वहीं इसके बाद जग्‍गा को जेल हो गई।

इसके बाद जग्‍गा जब जेल पहुंचा तो उसे पता चला कि उसके भाई की हत्‍या कराने वाला अच्‍छा शोकरवाला (Accha Shokarwala) है, उसने ही हत्‍यारे को भेजा था। अब जग्‍गा ने जेल में ही अच्‍छा शोकरवाला की हत्‍या करने का प्‍लान बनाया। मौका देखते ही जग्‍गा ने अच्‍छा शोकरवाला पर हमला कर दिया, हालांकि इस हमले में अच्‍छा शोकरवाला मरा नहीं, बस घायल हुआ। वहीं हमले में अच्‍छा शोकरवाला के दो आदमी जरूर मारे गए।

जग्‍गा गुर्जर
60 के दशक में पाक के जंग अख़बार की ख़बर

जेल से हुआ रिहा

वहीं बाद में जग्‍गा गुर्जर जब जेल से रिहा हुआ तो उसका स्‍वागत करने के लिए जेल के बाहर भारी भीड़ इकट्ठा हो गई। बीबीसी रिपोर्ट के मुताबिक, उस समय अच्‍छा शोकरवाला के ऊपर पश्चिमी पाकिस्‍तान के गवर्नर (Governer of West Pakistan) नवाब ऑफ काला बाग (Nawab of Kala Bagh) अमीर मोहम्‍मद खान (Nawab Malik Amir Mohammad Khan) का हाथ हुआ करता था। उस समय लोग शोकरवाला को ‘छोटा गवर्नर’ कहा करते थे।

बीबीसी ने अपनी रिपोर्ट में अकील अहमद रूबी की किताब ‘खरे खोटे’ के हवाले से लिखा कि अमीर मोहम्‍मद खान के कार्यकाल के दौरान अच्‍छा गवर्नर हाउस में कभी भी आ जा सकता था। अमीर मोहम्‍मद खान के कार्यकाल के दौरान ही अच्‍छा शोकरवाला को पाकिस्‍तानी सरकार की तरफ से मेडल ऑफ ऑनर दिया गया था।

रिपोर्ट में आगे बताया गया है कि अमीर मोहम्‍मद खान का कार्यकाल समाप्‍त होने के बाद अच्‍छा शोकरवाला को गुंडा टैक्‍स वसूल करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया। वहीं गवर्नर मूसा खान का कार्यकाल शुरू होने के बाद जग्‍गा गुर्जर को जेल से रिहा किया गया था।

जग्‍गा के नाम पर वसूला जाता था ‘जग्‍गा टैक्‍स’

जेल की कैद से आजाद होकर जग्‍गा जब बाहर आया तो उसने अपना खुद का गिरोह बना लिया। इसके बाद वह कसाई समुदाय के लोगों से जबरन वसूली करने लगा। रिपोर्ट के मुताबिक, तब जग्‍गा के अपराधों का केंद्र बकर मंडी क्षेत्र हुआ करता था। वह एक बकरे की खरीद होने पर एक रुपए का टैक्‍स वसूला करता था। इसी टैक्‍स को ही बाद में ‘जग्‍गा टैक्‍स’ कहा जाने लगा था।

चीन में कोरोना वायरस संक्रमण की नई लहर, अब तक इतने लोगों की हुई मौत

कुछ जानकार बताते हैं कि आज भी पाकिस्‍तान में जबरन वसूल किए जाने वाले टैक्‍स को ‘जग्‍गा टैक्‍स’ ही कहा जाता है। जग्‍गा टैक्‍स से आने वाले पैसों का कुछ हिस्‍सा जरूरतमंदों को भी दान करता था। लेकिन ये बहुत ज्‍यादा दिन नहीं चला, जग्‍गा के पीछे पुलिस लग चुकी थी।

पुलिस से बचने के लिए जग्‍गा पाकिस्‍तान के कब्‍जे वाले कश्‍मीर चला गया। वहीं कुछ दिन बाद पुलिस को सूचना मिली कि जग्‍गा अपनी मां से मिलने आया है। इसके बाद पुलिस ने उसे घेर लिया, दोनों ओर से हुई मुठभेड़ में खूब गोलियां चलीं। अंत में जग्‍गा मारा गया। वहीं इस मुठभेड़ में कई पुलिसवाले भी घायल हुए।

वहीं जग्‍गा गुर्जर की मौत की खबर अगले दिन पाकिस्‍तान के हर अखबार के पहले पन्‍ने पर छपी। इसके बाद उसे देखने के लिए हजारों की संख्‍या में लोग उमड़ पड़े। सड़कों पर कई किलोमीटर तक जाम ही जाम लग गया। इसके बाद जग्‍गा गुर्जर के जीवन पर कई फिल्‍में भी बनाई गईं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular