मनमोहन सिंह का जीवन परिचय | Manmohan Singh Biography in Hindi

भारत देश के 14वें प्रधानमंत्री रह चुके डॉ. मनमोहन सिंह देश के सर्वश्रेष्‍ठ अर्थशास्त्रियों में से एक माने जाते हैं। बताया जाता है कि एक समय जब भारत देश की अर्थव्‍यवस्‍था बेहद ही खराब हो चुकी थी, तो उसे उबारने में सबसे बड़ा हाथ मनमोहन सिंह का ही था। आइए आज जानते हैं मनमोहन सिंह का जीवन परिचय (Manmohan Singh Biography in Hindi)…

मनमोहन सिंह का जीवन परिचय

मनमोहन सिंह का जीवन परिचय – Manmohan Singh Biography in Hindi

पूरा नामडॉ. मनमोहन सिंह
जन्‍म26 सितम्बर 1932
जन्‍मस्‍थानगाह, पाकिस्तान
पिता का नामगुरुमुख सिंह
माता का नामअमृत कौर
पत्‍नी का नामगुरशरण कौर
संतानबेटियां- उपिन्दर, दमन और अमृत
धर्मसिख
राजनैतिक पार्टीभारतीय राष्‍ट्रीय कांग्रेस
नेटवर्थकरीब 3 Million डॉलर

 

मनमोहन सिंह का जन्‍म व माता-पिता – (Manmohan Singh Birthdate And Mother-Father)

26 सितंबर 1932 के दिन मनमोहन सिंह का जन्‍म (Manmohan Singh Date Of Birth) पाकिस्‍तान के पंजाब प्रांत के गाह (Manmohan Singh Place Of Birth) में एक सिख परिवार में हुआ था। मनमोहन सिंह के पिता का नाम (Manmohan Singh Father Name) गुरुमुख सिंह है। वहीं उनकी माता का नाम (Manmohan Singh Mother Name) अमृत कौर है। मनमोहन सिंह की मां का बचपन में ही देहांत हो गया था जिसके बाद इनका पालन पोषण इनकी दादी की देखरेख में हुआ।

पत्‍नी और बच्‍चे – (Manmohan Singh Wife And Children’s)

मनमोहन सिंह की पत्‍नी का नाम (Manmohan Singh Wife Name) गुरशरण कौर है। इन दोनों की तीन बेटियां हैं। मनमोहन सिंह और गुरशरण कौर की बेटियों के नाम (Manmohan Singh Daughters Name) उपिन्दर, अमृत व दमन हैं। उपिन्‍दर दिल्‍ली यूनिवर्सिटी में इतिहास की प्रोफेशर हैं। वहीं अमृत सिविल लिबर्टी में कार्यरत हैं। मनमोहन सिंह की तीसरी बेटी दमन एक हाउसवाइफ हैं। दमन की शादी एक आईपीएस अफसर से हुई है।

शिक्षा – (Manmohan Singh Education)

मनमोहन सिंह शुरुआत से ही बेहद तेज दिमाग के थे। बचपन से ही पढ़ाई में उनका मन खूब लगता था। अक्‍सर वे अपनी कक्षा में टॉप किया करते थे। मनमोहन‍ सिंह ने पंजाब यूनिवर्सिटी से अर्थशास्‍त्र में स्‍नातक की डिग्री हासिल की। इसके बाद उन्‍होंने कैंब्रिज और ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी से आगे की पढ़ाई की। अपनी शिक्षा पूरी करने के बाद वे पंजाब यूनिवर्सिटी और दिल्‍ली स्‍कूल ऑफ इकोनॉमि‍क्‍स में प्रोफेसर के पद पर कार्यरत रहे।

मनमोहन सिंह का राजनैतिक करियर – (Manmohan Singh Political Career)

जिस समय मनमोहन सिंह ने राजनीति में कदम रखा, उस समय पी वी नरसिम्हा राव प्रधानमंत्री चुने गए थे। 1985 में राजीव गाँधी के शासन काल में मनमोहन सिंह को भारतीय योजना आयोग का उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया। इस पैट पर उन्होंने पांच वर्ष तक कार्य किया। फिर 1990 में वह प्रधानमंत्री के आर्थिक सलाहकार बन गए। उन्होंने मनमोहन सिंह 1991 में अपने मंत्रिमंडल में सम्मिलित करते हुए वित्त मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार सौंप दिया। उस वक्त देश की आर्थिक स्थिति बहुत खराब थी। देश की अर्थव्यवस्थता सुधारने के लिए मनमोहन सिंह ने कई देशों के दौरे किये।

Navjot Singh Siddhu Biography in Hindi

सत्ता में आते ही सबसे पहले मनमोहन सिंह ने लाइसेंस राज नाम की योजना को बंद किया। योजना से कई प्राइवेट फ़र्म को फ़ायदा मिला उन्हें स्वतंत्र बनाने से देश आर्थिक फायदा मिलना शुरू हुआ। उन्होंने भारतीय अर्थव्यवस्था को विश्व बाजार से जोड़ दिया। आयात और निर्यात को भी सरल किया। 1984 से लेकर 2004 तक वे राजयसभा में विपक्ष के नेता रहें।

ऐसे मिला प्रधानमंत्री पद – (How Manmohan Singh Became Prime Minister)

22 मई 2004 में सोनिया गाँधी ने मनमोहन सिंह को देश का प्रधानमंत्री घोषित किया। तब मनमोहन सिंह की उम्र 72 वर्ष थी। उन्होंने नेशनल इंवेस्टीगेशन एजेंसी का गठन किया। अपने शासन काल में पड़ोसी देश व अन्य देशों से अपने सम्बन्ध सुधारें जिससे देश को बहुत से फायदे हुए। उनका कार्य 2009 में पूरा हुआ। 15वें लोकसभा चुनाव में UPA सरकार की दोबारा जीत के बाद मनमोहन सिंह फिर से प्रधानमंत्री के पद के लिए चुने गए।

मनमोहन सिंह की उपलब्धियां – (Manmohan Singh Achievements)

  • 1982 में क्रैम्बिज के जॉन कॉलेज द्वारा मनमोहन सिंह का सम्मान
  • 1987 में देश के चौथे सबसे बड़े सम्मान पद्म विभूषण से भारत सरकार द्वारा सम्मानित
  • 1993 व 1994 का एशिया मनी अवार्ड फॉर द फाइनेन्स मिनिस्टर आफ़ द ईयर
  • 2002 में सर्वश्रेष्ठ सांसद

मनमोहन सिंह ताजा समाचार – (Manmohan Singh Latest News)

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह डेंगू से ग्रसित (Manmohan singh dengue News) हैं। उन्‍हें 13 अक्‍टूबर 2021 को दिल्‍ली एम्‍स में भर्ती कराया गया था। हालांकि उनकी स्थिति अब पहले से काफी बेहतर है। बता दें कि डॉ. मनमोहन सिंह बीते 19 अप्रैल को कोरोना वायरस (Manmohan singh Corona Virus News) की भी चपेट में आ गए थे।

FAQ’s

Q : मनमोहन सिंह की जन्‍मतिथि क्‍या है?
Ans :
26 सितम्बर 1932

Q : मनमोहन सिंह के माता-पिता का नाम क्‍या है?
Ans : पिता- गुरुमुख सिंह, माता- अमृत कौर

Q : मनमोहन सिंह की पत्‍नी का क्‍या नाम है?
Ans : 
गुरशरण कौर

Q : मनमोहन सिंह की बेटियों के नाम क्‍या हैं?
Ans : 
उपिन्‍दर सिंह, दमन सिंह और अमृत सिंह

Q : मनमोहन सिंह को पद्म विभूषण सम्‍मान कब दिया गया?
Ans :
 साल 1987

Leave a Comment

गिलोय के फायदे और नुकसान | Giloy Benefits Side Effects in Hindi शादीशुदा पुरुष रोज ऐसे खाएं सिर्फ 2 अखरोट, मिलेंगे जबरदस्त फायदे आपके सफेद बालों का काला बना सकती है कलौंजी? यहां जानिए डायबिटीज मरीजों के लिए बेहद फायदेमंद है अखरोट, ऐसे करें सेवन जीरा खाने के फायदे और नुकसान | Cumin Seeds Benefits Hindi